यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना

यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना|

uttar pradesh

यूपी निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना| यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना|मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना|उत्तर प्रदेश निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना| up Mukhyamantri Nirashrit Beshara Govansh Sahbhagita Yojana|

प्यारे दोस्तों आज हम अपने इस आर्टिकल यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना में की जानकारी देने जा रही है| हम आपको बताएंगे जी आप किस प्रकार उत्तर प्रदेश निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना ( up Mukhyamantri Nirashrit Beshara Govansh Sahbhagita Yojana) का लाभ ले सकते हैं|उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यूपी निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना की शुरुआत की है|

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेसहारा पशुओं की रक्षा करने के लिए (Mukhyamantri Nirashrit Beshara Govansh Sahbhagita Yojana) की शुरुआत की गई है| आजकल के समय में आवारा पशु यहां-वहां घूमते रहते हैं| आवारा पशु लोगों की फसलों का नुकसान करते हैं| इन्हीं आवारा पशुओं को सहारा देने के लिए मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता स्कीम बनाई गई है| ताकि उत्तर प्रदेश के लोग आवारा पशुओं बांधकर उनका पोषण करें|सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी|

यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2020

बेसहारा गोवंश का पालन करने वाले किसानों को 30 रुपये प्रतिदिन प्रति पशु देने के लिए मुख्यमंत्री निराश्रित, बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना को मंजूरी दे दी है। इस तरह प्रति निराश्रित पशु पालने पर किसानों को 900 रुपये महीने मिल सकेंगे। यदि वह 10 पशु ले जाएंगे तो 9000 रुपये मिल सकेंगे।

up Govansh Sahbhagita Yojana के तहत आवारा गोवंश पालने पर पशुपालकों को प्रत्येक गोवंश पर 30 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से आर्थिक मदद उपलब्ध कराई जाएगी।

uttar pradesh Nirashrit Beshara Govansh Sahbhagita Yojana के प्रथम चरण में एक लाख गोवंश पशुपालकों के सुपुर्द किए जाने का प्रस्ताव है। सरकार का अनुमान है कि इस पर 1 अरब 9 करोड़ 50 लाख रुपए खर्च होंगे।

Mukhyamantri Nirashrit Beshara Govansh Sahbhagita Yojana के तहत जिला अधिकारी गोवंश पालने के इच्छुक किसानों, पशुपालकों और अन्य व्यक्तियों को चिन्हित करेंगे। गोवंश के भरण पोषण के लिए इनके बैंक खाते में प्रति गोवंश 30 रुपए प्रतिदिन की दर से धनराशि भेजी जाएगी।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना के लाभ

  • up Beshara Govansh Sahbhagita Yojana ने सामाजिक सहभागिता बढ़ेगी और अन्ना मवेशियों की संख्या में कमी आएगी।
  • साथ ही साथ इससे जन सामान्य को रोजगार मिलने की भी संभावना है।
  • निराश्रित गोवंश के कारण किसानों की फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान कम होगा|
  • बेसहारा गोवंश का पालन करने वाले किसानों को 30 रुपये प्रतिदिन प्रति सहायता दी जाएगी|
  • किसानों की आय में वृद्धि होगी|
  •  यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना पशुओं की ईयर टैगिंग भी की जाएगी जिससे किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार की संभावना कम हो जाएगी।
  • पशुपालकों, किसानों द्वारा आवारा पशुओं को आसरा देने से रास्ते में निराश्रित पशुओं द्वारा होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी।
  • किसान या पशुपालक जिसने भी निराश्रित पशु को योगी आवारा पशु योजना 2019 के अंदर लिया है वह गोवंश को बेच नहीं पाएगा।

यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना ऑनलाइन आवेदन

उत्तर प्रदेश निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन जल्द ही शुरू हो जाएंगे|

इसके अलावा तहसील, ब्लॉक व जिला स्तर पर समिति का भी गठन होगा। स्थानीय समिति प्रगति से बीडीओ व एसडीएम को अवगत कराएगी।

प्यारे दोस्तों यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना जानकारी किस प्रकार लगी| अगर आप ही से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं| जिससे आप उत्तर प्रदेश की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

3 thoughts on “यूपी बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *