उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना|बाल श्रमिक विद्या योजना|UP बाल श्रमिक विद्या योजना UP Bal Shramik Vidya Yojana|Uttar pradesh Bal Shramik Vidya Yojana

प्यारे दोस्तों आज हम आपके लिए यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना की जानकारी लेकर आए हैं हम आपको बताएंगे कि बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है आप किस प्रकार बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ उठा सकते हैं| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कामकाजी बच्चों के लिए UP बाल श्रमिक विद्या योजना योजना की शुरुआत की है|उन सभी बच्चों को जिन्हें स्कूल में होना चाहिए लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों के कारण अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए बाल श्रम करना पड़ता है ऐसे बच्चों के लिए आज एक नई योजना’बाल श्रमिक विद्या योजना’उत्तर प्रदेश में प्रारंभ की जा रही है|

जो बच्चे जब बचपन में ही अपने पारिवारिक खर्चे के लिए मजदूरी करने को मजबूर होते हैं तो यह न केवल उनके शारीरिक व मानसिक विकास पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है, बल्कि इससे समाज और राष्ट्र की भी अपूरणीय क्षति होती है. देश में एक बड़ा समूह ऐसा है| जिसे अपनी पारिवारिक परिस्थितियों के कारण बालश्रम करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है| इन सबके लिए समय-समय पर सरकारों ने कदम उठाए हैं, लेकिन इसके बावजूद यह महसूस किया गया कि बहुत बच्चे ऐसे हैं जो मजबूरी में बालश्रम करते हैं|

बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत 2,000 बच्चों के साथ की गयी है| सीएम ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि 2,000 बच्चे इस वर्ष लाभान्वित होंगे| और अगले वर्ष से हम लोगों के अटल आवासीय विद्यालय भी आगे बढ़ जाएंगे| बाल श्रमिक विद्या योजना’ ऐसी योजना है जिसमें बच्चों व उनके परिवारों के सभी प्रकार के खर्चों को उठाने का दायित्व श्रम विभाग अपने ऊपर लेने जा रहा है|

UP बाल श्रमिक विद्या योजना

बाल श्रमिक विद्या योजना बालकों को 1,000 रूपये व बालिकाओं को 1,200 रूपये प्रतिमाह देने की व्यवस्था के साथ यह योजना लागू हो रही है|सीएम योगी ने कहा कि बाल श्रमिक विद्या योजना’ में 8वीं,9वींऔर 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को प्रति वर्ष 6000 रु. की अतिरिक्त सहायता देने का प्रावधान भी दिया गया है|सीएम ने कहा- प्रत्येक बच्चा असीम संभावनाओं का प्रकाश-पुंज है। इन संभावनाओं में राष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य की आभा है। एक सभ्य समाज के रूप में इन संभावनाओं को यथार्थ में परिवर्तित होने हेतु अनुकूल अवसर उपलब्ध कराना हमारा कर्तव्य है।

Uttar pradesh Bal Shramik Vidya Yojana

नाम

बाल श्रमिक विद्या योजना उत्तर प्रदेश
किसने लांच की

 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी
विभाग श्रम विभाग
किस मौके पर लांच हुई बाल श्रम निषेध दिवस
लाभार्थी प्रदेश के बाल श्रमिक
क्या लाभ मिलेगें लड़के – 1000 रूपए/माह

लड़की – 1200 रूपए/माह

8th, 9th और 10th पढने वाले बच्चों को 6 हजार प्रोत्साहन राशी

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है की राज्य में बहुत से ऐसे लोग है जो श्रम करके अपने परिवार का भरण पोषण करते है। जब बचपन में बच्चे अपने पारिवारिक खर्चों के लिए बाल श्रम करने पर मजबूर होते हैं, तो उनके शारिरिक एवं मानसिक विकास पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है. उत्तर प्रदेश सरकार आज इसी ओर एक और कदम बढ़ाने जा रही है।  मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 के तहत राज्य सरकार बालको को 1000 रूपये महीना और बलिकाओं को 1200 रूपये महीना की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। इससे बच्चो की पढाई की व्यवस्था की जा इस योजना के ज़रिये श्रमिक बच्चो के भविष्य को उज्जवल बनाना। और देश को प्रगति की और ले जाना। इस योजना के ज़रिये श्रमिकों के बच्चों को बाल श्रमिकों के रूप में काम करने से रोकने के लिए मासिक वित्तीय सहायता प्रदान करेगा और इसके बजाय उनकी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करेगा।

Uttar Pradesh Bal Shramik Vidhya Yojana 2022 के लाभ

  • इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गरीब बच्चो को प्रदान किया जायेगा।
  • जाएगी।  इस योजना के तहत राज्य के बालको को 1000 रूपये प्रतिमाह और बालिकाओ को 1200 रूपये प्रतिमाह राज्य सरकार द्वारा  मुहैया कराये जायेगे।
  • मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 के अंतर्गत राज्य के जो श्रमिक बच्चे 8वीं,9वींऔर 10वीं कक्षा में पढ़ रहे है उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिवर्ष 6000 रूपये की अतिरिक्त सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लोग आधिकारिक वेबसाइट (लॉन्च होने के लिए) में यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 पंजीकरण / आवेदन पत्र भरकर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।
  • बाल श्रम के खिलाफ 12 जून 2020 को 12 जून 2020 को इस यूपी बाल श्रमिक योजना के आधिकारिक शुभारंभ के रूप में 2,000 से अधिक बच्चों को धन भेजा जाएगा।
  • Uttar Pradesh Bal Shramik Vidhya Yojana 2022 के तहतअधिक छात्रों को लाभान्वित करने और उन्हें बाल श्रमिक के रूप में काम करने से रोकने के लिए यूपी मजदूर बाल शिक्षा योजना शुरू की जाएगी।

UP Bal Shramik Vidya Yojana की चयन प्रक्रिया

  • उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत बच्चों की पहचान श्रम विभाग के अधिकारियों की ओर से सर्वेक्षण/ निरीक्षण में, ग्राम पंचायतों, स्थानीय निकाय, चाइल्डलाइन अथवा विद्यालय प्रबंध समिति द्वारा किया जाएगा।
  • यदि माता या पिता या फिर दोनों किसी लाइलाज रोग से पीड़ित है तो उनके बच्चों को चयन की प्राथमिकता दी जाएगी। इस प्राथमिकता के लिए चीफ मेडिकल ऑफिसर के द्वारा दिया गया एक सर्टिफिकेट देना होगा।
  • भूमिहीन परिवारों और महिला प्रमुख परिवारों के चयन के लिए 2011 की जनगणना की सूची का उपयोग किया जाएगा।
  • प्रत्येक लाभार्थी की चयन की मंजूरी के बाद इसे e-tracking सिस्टम पर अपलोड किया जाएगा।

बाल श्रमिक विद्या योजना पात्रता

  • योजना का लाभ 8 से 18 साल के किशोरियों को ही मिलेगा|
  • जिन बच्चों के माता पिता नहीं है, या कोई एक भी नहीं तो भी योजना का पात्र है|
  • अगर बच्चों के माता पिता दोनों दिव्यांग है, या कोई एक भी है तो भी योजना का पात्र है|
  • अगर बच्चों के माता पिता गंभीर बीमारी से ग्रस्त है तो भी योजना के पात्र होंगे|

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना जरूरी दस्तावेज

  • जन्म प्रमाण पत्र|
  • आधार कार्ड|
  • पासपोर्ट साइज फोटो|
  • बैंक खाते का अकाउंट नंबर|
  • मोबाइल नंबर

BC सखी योजना रजिस्ट्रेशन

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन

  • उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना में आप पंजीकरण करना चाहते हैं तो इसके लिए थोड़ा इंतजार करना होगा|
  • अभी बाल श्रमिक विद्या योजना की घोषणा की गई है|
  • जल्द ही ऑफिशियल लिंक जारी कर दिया जाएगा|
  • उसके बाद आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं|
2 thoughts on “यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना 2022|UP Bal Shramik Vidya Yojana”

Leave a Reply

Your email address will not be published.