सुरक्षा कवच योजना उत्तर प्रदेश|Suraksha Kavach Yojana Uttar pradesh

Capture-9.png

 सुरक्षा कवच योजना|suraksha kavach yojana|suraksha kavach 

आज हम आपके लिए उत्तर प्रदेश रक्षा कवच योजना की जानकारी लेकर आए हैं| हम आपको बताएंगे कि सुरक्षा कवच योजना क्या है| आप किस प्रकार Suraksha Kavach Yojana Uttar pradesh का लाभ उठा सकते हैं|उत्‍तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित बालिका सुरक्षा जागरूकता “कवच” अभियान के तहत कानपुर में 86 पुलिसकर्मी समेत 15 टीमें महिला बाल कल्याण विभाग की मदद से बच्चियों को आत्म सुरक्षा के लिए जागरूक कर रही हैं. यह अभियान 1 से 31 जुलाई 2019 तक जनपद के चयनित 27 विद्यालयों में चलाया जा रहा है|

उन्‍होंने कहा कि बच्चियों को जागरूक करने की जिम्मेदारी अध्यापकों की भी है, क्योंकि वह ज्यादा समय विद्यालय में देती हैं| उनको एक अच्छा नागरिक बनाने की जिम्मेदारी विद्यालय प्रशासन की भी है| जबकि अभिभावक को चाहिए कि वह लड़के तथा लड़कियों में भेदभाव ना करें, उन्हें एक समान रूप से देखें और अच्छी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उन्हें प्रदान कराएं| यही नहीं, बच्चियों को जागरूक करने के लिए स्कूल में जागरूकता गोष्ठियों का आयोजन किया जाये|

उत्तर प्रदेश सुरक्षा कवच योजना

महिलाओं की सुरक्षा हेतु दिसम्बर, 2019 से सुरक्षा कवच योजना प्रारम्भ की गई है। कामकाजी महिलाओं तथा महिला यात्रियों द्वारा रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक 112 पर डायल कर पुलिस सुरक्षा की मांग किये जाने पर पुलिस द्वारा उन्हें उनके गन्तव्य तक सुरक्षित पहुँचाने की व्यवस्था की गई है। इस हेतु 300 पी0आर0वी0 में दो-दो महिलायें हर शिफ्ट में नियुक्त की गई हैं।

Suraksha Kavach Yojana Uttar pradesh Highlights

योजना का नाम सुरक्षा कवच योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी योगी आदित्यनाथ जी  के द्वारा
लांच की तारीक 1 अगस्त 2019
लाभार्थी यूपी की महिलाओं के लिए

सुरक्षा कवच योजना की विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना हेतु 1 हजार 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।
  • निराश्रित महिला पेंशन योजना के अन्तर्गत निराश्रित महिलाओं तथा उनके बच्चों के भरण पोषण हेतु 500 रुपये की धनराशि प्रतिमाह सीधे लाभार्थियों के खाते में प्रेषित की जाती है। इस योजनान्तर्गत 1 हजार 432 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है|
  • वृद्ध एवं निराश्रित महिलाओं के पुनर्वासन एवं जीवन यापन हेतु ‘स्वाधार गृह योजना’का संचालन किया जा रहा है।
  • प्रदेश में कुपोषण की रोकथाम के लिये राष्ट्रीय पोषण अभियान कार्यक्रम अनुमोदित किया गया है जिसके द्वारा बच्चों, किशोरियों तथा महिलाओं में कुपोषण में कमी लाई जायेगी। इस योजना हेतु 4 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।
  • ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना के अन्तर्गत कन्या भ्रूण हत्या की रोक-थाम के लिये जागरूकता कार्यक्रम 68 जनपदों में संचालित किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top