सुकन्या समृद्धि योजना|सुकन्या समृद्धि खाता योजना|सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर इन हिंदी|सुकन्या समृद्धि योजना चार्ट|सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर एक्सेल|सुकन्या समृद्धि योजना 2022|सुकन्या योजना कैलकुलेटर|

गर्ल चाइल्ड के लिए सुकन्या समृद्धि योजना योजना है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लांच किया गया है| सुकन्या योजना 2022 (sukanya samriddhi yojana 2022) में 9.1 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है जो इनकम टैक्स छूट के साथ है|
सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एकाउंट किसी गर्ल चाइल्ड के जन्म लेने के बाद 10साल से पहले की उम्र में कम से कम 1000 रूपये के जमा के साथ खोला जा सकता है| चालू वित्त वर्ष में इसके तहत अधिकतम 1.5 लाख रूपये जमा कराये जा सकते हैं|सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojana 2022) के तहत एकाउंट किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है|
खाता खोलने के बाद यह गर्ल चाइल्ड के 21 साल के होने या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने तक चलाया जा सकता है|इस खाते से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए खर्च के मामले में 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है. सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना के लिए 2 दिसंबर 2014 को नोटिफिकेशन संख्या जी.एस.आर.863(इ) जारी किया था, जो इसी दिन लागू हो गया|

सुकन्या समृद्धि खाता योजना 2022

Contents

यह खाता बच्ची के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा गर्ल चाइल्ड के नाम से उसके 10 साल की उम्र से पहले खोला जा सकता है| इस नियम के मुताबिक एक बच्ची के लिए एक ही खाता खोला और उसमें पैसा जमा किया जा सकता है| एक बच्ची के लिए दो खाता नहीं खोला (sukanya samriddhi scheme details) जा सकता.
खाता खोलने के वक्त बच्ची का बर्थ सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस या बैंक में देना जरूरी है. इसके साथ ही बच्ची और अभिभावक के पहचान और पते का प्रमाण भी देना जरूरी है.एकाउंट खोलने के लिए 1000 रूपये काफी हैं, लेकिन बाद में 100 रूपये के गुणक में पैसे जमा कराये जा सकते हैं. किसी एक वित्त वर्ष में कम से कम 1000 रूपये जरूर जमा कराया जाना चाहिए|

किसी एक वित्त वर्ष में इस खाते में एक बार या कई बार में 1.5 लाख रूपये से अधिक जमा नहीं कराया जा सकता. इस खाते में रकम खाता खोलने के दिन से 15 साल तक जमा कराया जा सकता है|

9 साल की किसी बच्ची के मामले में जब वह 24 साल की हो जाये तब तक रकम जमा कराई जा सकती है. बच्ची के 24 से 30 साल के होने तक जब वह खाता मैच्योर हो जाये, उसमें जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा|

Sukanya Samriddhi Yojana 

योजना का नाम सुकन्या समृद्धि योजना
इनके द्वारा शुरू किया गया केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी देश की बालिकाएं
उद्देश्य बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
ऑफिसियल वेबसाइट

एकाउंट मैच्योर कब होगा

खाता खोलने के दिन से 21 साल पूरा होने या गर्ल चाइल्ड की शादी होने के बाद एकाउंट मैच्योर हो जायेगा.

इसमें हालांकि कुछ शर्तें भी हैं
* अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती.
* अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफ्फिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है. मैच्योरिटी के समय पासबुक और विथड्रावल स्लिप पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी.

इस स्कीम में टैक्स बेनिफिट क्या है

इस समय एसएसवाई सॉवरेन गारंटी के साथ सबसे ज्यादा टैक्स फ्री रिटर्न देने वाला इंस्ट्रूमेंट है. यह इइइ स्टेटस वाला निवेश है. सेक्शन 80 सी के तहत इस खाते में जमा रकम पर कर छूट का दावा किया जा सकता है और मैच्योरिटी पर मिलने वाला ब्याज भी टैक्स फ्री है

सुकन्या समृद्धि एकाउंट किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल बैंक की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है| आम तौर पर पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) की सुविधा देने वाले सभी बैंक सुकन्या समृद्धि योजना में भी एकाउंट खोलते हैं|

सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट 2022 कैलकुलेटर

Child’s Age account age amount yearly amount  at the end of the year Interest rate interest amount total at the end of the year
3 1 12000 12000 9.1 1092 13092
4 2 12000 25092 8.61 2160.4212 27252.4212
5 3 12000 39252.4212 8.61 3379.633465 42632.05467
6 4 12000 54632.05467 8.61 4703.819907 59335.87457
7 5 12000 71335.87457 8.61 6142.018801 77477.89337
8 6 12000 89477.89337 8.61 7704.046619 97181.93999
9 7 12000 109181.94 8.61 9400.565033 118582.505
10 8 12000 130582.505 8.61 11243.15368 141825.6587
11 9 12000 153825.6587 8.61 13244.38921 167070.0479
12 10 12000 179070.0479 8.61 15417.93113 194487.979
13 11 12000 206487.979 8.61 17778.615 224266.594
14 12 12000 236266.594 8.61 20342.55375 256609.1478
15 13 12000 268609.1478 8.61 23127.24762 291736.3954
16 14 12000 303736.3954 8.61 26151.70365 329888.0991
17 15 0 329888.0991 8.61 28403.36533 358291.4644
18 16 0 358291.4644 8.61 30848.89508 389140.3595
19 17 0 389140.3595 8.61 33504.98495 422645.3444
20 18 0 422645.3444 8.61 36389.76416 459035.1086
21 19 0 459035.1086 8.61 39522.92285 498558.0314
22 20 0 498558.0314 8.61 42925.84651 541483.8779
23 21 0 541483.8779 8.61 46621.76189 588105.6398

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कितनी बेटियों को लाभ मिल सकता है?

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के अंतर्गत केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही लाभ मिल सकता है। यदि एक परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो इस योजना का लाभ केवल उस परिवार की दो बेटियां ही उठा सकते हैं। लेकिन यदि किसी परिवार में जुड़वा बेटियां हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ अलग-अलग मिलेगा यानी कि फिर उस परिवार की तीन बेटियां लाभ उठा पाएंगी। जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन उनको लाभ अलग-अलग दिया जाएगा।इस योजना के अंतर्गत वह सभी लोग अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं जो अपनी बेटी की शादी तथा पढ़ाई के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं। आपको बता दें इस योजना के अंतर्गत 10 साल से कम की आयु की कन्याओं का खाता खोला जा सकता है। Sukanya Samriddhi Yojana को सरकार द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आरंभ किया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना लोन

सरकार द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न पीपीएफ योजनाओं के अंतर्गत ऋण प्राप्त किया जा सकता है। लेकिन सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अन्य पीपीएफ योजना के जैसे लोन नहीं प्राप्त किया जा सकता है। परंतु यदि बालिका 18 वर्ष की हो गई है तो इस योजना के खाते से अभिभावकों द्वारा निकासी की जा सकती है। यह निकासी केवल 50% की ही की जा सकती है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत की गई निकासी बालिकाओं की बेहतरी के लिए की जा सकती है। इस राशि को बालिका की शादी, उच्च शिक्षा आदि के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में या फिर एक बैंक से दूसरे बैंक में अकाउंट को ट्रांसफर किया जा सकता है। इस अकाउंट को ट्रांसफर करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको अपनी अपडेटेड पासबुक और केवाईसी दस्तावेजों को लेकर डाकघर में या फिर बैंक में जाना होगा। ट्रांसफर के दौरान बालिकाओं को उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।
  • इसके पश्चात आपको अपने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की पासबुक एवं केवाईसी डॉक्यूमेंट को अपने बैंक या पर पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा और अपने बैंक एवं पोस्ट ऑफिस को इस बात की सूचना देनी होगी कि आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है।
  • इसके बाद मैनेजर आपका खाता पुरानी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में बंद कर देगा और ट्रांसफर रिक्वेस्ट आपको देगा। इसके अलावा आपसे सभी जरूरी दस्तावेजों की मांग की जाएगी।
  • अब आपको यह ट्रांसफर रिक्वेस्ट लेकर नए पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक अकाउंट में जाना होगा और वहां पर यह सभी दस्तावेज सबमिट करने होंगे।
  • पहचान एवं पते के प्रमाण के लिए आपको केवाईसी दस्तावेजों को भी जमा करना होगा।
  • अब आपको एक नई पासबुक दी जाएगी जिसमें आपकी शेष राशि प्रदर्शित होगी।
  • इसके पश्चात आप अपने इस नया अकाउंट से सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का संचालन कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना दिसंबर अपडेट

इंडिया पोस्ट द्वारा नौ प्रकार की बचत योजनाएं चलाई जाती हैं। जिनको पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम के नाम से जाना जाता है। यह 9 प्रकार की स्कीम पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट, पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट, पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, सुकन्या समृद्धि योजना, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, 5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट, किसान विकास पत्र और सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम शामिल है। सरकार द्वारा इन सभी बचत योजनाओं के ब्याज दर में समय समय पर संशोधन किया जाता है। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत फिलहाल 7.6 प्रतिशत का ब्याज दर है।

इस योजना का लाभ एक परिवार की अधिकतम दो बेटियां उठा सकती हैं। इस योजना के अंतर्गत जब बच्चा 21 वर्ष की आयु का हो जाता है तो वह परीपक्ता राशि प्राप्त कर सकता है। यदि यह माना जाए कि इस योजना के अंतर्गत भविष्य में भी 7.6 प्रतिशत ब्याज दर रहेगी तो इस योजना के अंतर्गत जमा किए हुए पैसों को दोगुना होने में 9.4 वर्ष लगेंगे।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता रिओपन करने की प्रक्रिया

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आरंभ किया था। इस योजना के अंतर्गत बेटी की 10 वर्ष की आयु से पहले उसकी पढ़ाई तथा शादी के लिए खाता खुलवाया जा सकता है। यह एक बहुत ही लोकप्रिय योजना है। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाते में प्रतिवर्ष न्यूनतम ₹250 रुपए की राशि तथा अधिकतम 1.5 लाख रुपए की राशि जमा की जा सकती है। इस खाते को जारी रखने के लिए लाभार्थी को प्रति वर्ष ₹250 जमा करने अनिवार्य हैं। यदि लाभार्थी ने किसी वर्ष ₹250 की राशि जमा नहीं की है तो फिर उसका अकाउंट बंद हो जाएगा।

  • अकाउंट बंद होने के बाद अकाउंट को एक्टिवेट करवाया जा सकता है। इसके लिए लाभार्थी को बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस जहां भी उसका अकाउंट खुला हुआ है वहां जाना होगा। इसके पश्चात लाभार्थी को खाता दोबारा चालू करवाने का फॉर्म भरकर जमा करना होगा और बकाया राशि का भुगतान करना होगा।
  • मान लीजिए आपने 2 वर्ष से ₹250 की पेमेंट नहीं की है तो आपको ₹500 की पेमेंट करनी होगी तथा प्रति वर्ष ₹50 की पेनल्टी का भुगतान करना होगा। 2 वर्ष की पेनल्टी ₹100 हो जाएगी। तो यदि आप ने 2 वर्ष से सुकन्या समृद्धि योजना खाते में न्यूनतम राशि का भुगतान नहीं किया है तो आप को कम से कम ₹600 का भुगतान करना होगा। इसमें ₹500 दो वर्ष की न्यूनतम राशि तथा ₹100 दो वर्ष की पेनल्टी के होंगे।

Sukanya Samriddhi Scheme New Update

देश में कोरोना वायरस की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था की आर्थिक गतिविधियों पर काफी प्रभाव पड़ा है आरबीआई की तरफ रेपो रेट घटाए जाने के बाद सरकार ने एसएसवाई सहित छोटी बचत योजनाओं के लिए पिछले महीने ब्याज दरों में कटौती की घोषणा की।इस योजना के अंतर्गत पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट (आरडी) और टाइम डिपॉजिट पर 1-3 साल की ब्याज दरों में 1.4 फीसदी की कमी की गई, पीपीएफ और एसएसवाई में 0.8 फीसदी की कटौती की गई। इससे आपकी बेटी के लिए मैच्योरिटी राशि में कमी आएगी। इस Sukanya Samriddhi Scheme के अंतर्गत ब्याज दर कम होने के बाद लाभार्थी के खातों में दी जाने वाली ब्याज की वार्षिक दर पहले के 8.4 प्रतिशत की तुलना में 7.6 प्रतिशत रह गई है।

प्रतिवर्ष कितने पैसे देने होंगे तथा कब तक देना होगा?

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत पहले प्रति महा ₹1000 देने का प्रावधान था। जो कि अब काम करके ₹250 प्रतिमाह कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत ₹250 से लेकर ₹150000 तक निवेश किए जा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत बैंक अकाउंट खुलवाने के 14 साल तक निवेश करना अनिवार्य होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में  किये गए बदलाव

इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा पांच बदलाव किये गए है । जिसके बारे में जानना आपको बहुत ज़रूरी है । हमने इन पांच बदलाव के बारे में नीचे दी गयी है । आप इस सूचनाओं को ध्यानपूर्वक पढ़े ।

डिफॉल्ट अकाउंट पर अधिक ब्याज दर

Sukanya Samridhi Yojana के अंतर्गत अगर कोई व्यक्ति सुकन्या समृद्धि अकाउंट में न्यूनतम 250 रूपये की धनराशि एक वर्ष में जमा नहीं करता है तो उसे डिफॉल्ट अकाउंट माना जाता है। सरकार द्वारा 12 दिसंबर, 2019 को अधिसूचित नए नियम के मुताबिक, अब ऐसे डिफॉल्ट अकाउंट में जमा रकम पर वही इंट्रेस्ट रेट दिया जायेगा जो इस योजना के तहत तय किया गया है ।इसके साथ ही सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर 8.7% तो पोस्ट ऑफिस बचत खाते पर 4% की ब्याज दर मिलेगी ।

प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज करने के नियम में बदलाव

इस नए नियम के अनुसार इस योजना के अंतर्गत बच्ची की मौत होने या सहानुभूति के आधार पर अकाउंट को परिपक्वता अवधि से पहले बंद किया जा सकता है। सहानुभूति का तात्पर्य उस स्थिति से है, जिसमें अकाउंट होल्डर को जानलेवा बीमारी का इलाज कराना हो या अभिभावक की मौत हो गई हो।ऐसी स्थिति में बैंक अकाउंट को परिपक्वता अवधि से पहले बंद कर सकते है ।

अकाउंट का संचालन

इस योजना के तहत सरकार के नए नियमों के अनुसार जिस बच्ची के नाम से अकाउंट है, वह जबतक 18 साल की नहीं हो जाती तबतक अपने खाते का संचालन अपने हाथ में नहीं ले सकती है, जबकि पहले यह आयु 10 साल थी। जब बच्ची 18 साल की हो जाएगी, तो अभिभावक को बच्ची से संबंधित दस्तावेज पोस्ट ऑफिस में जमा कराना होगा।

दो बच्चियों से अधिक का खाता खुलवाना

इस योजना के अंतर्गत नए नियम के अनुसार अगर कोई व्यक्तियों अपनी दो बेटियों से अधिक का अकाउंट खुलवाने के लिए अतिरिक्त दस्तावेज जमा कराने होंगे ।अब आपको बेटी के बर्थ सर्टिफिकेट के साथ एक हलफनामा भी देना आवश्यक है ।

अन्य बदलाव

Sukanya Samridhi Yojana के नियमों में उपरोक्त बदलावों के अलावा कुछ नए प्रावधान जोड़े गए हैं, जबकि कुछ हटाए गए हैं। इनके बारे में अभी तक स्पष्ट नहीं किया गया है।जैसे ही इसके बारे में कुछ जानकारी हमे मिल जाएगी हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से बता देंगे ।

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाना और विवाह योग्य होने पर पैसो की कमी न आने देना |देश के गरीब लोग बचत खाते में अपनी बेटी की पढाई और शादी में होने वाले खर्च को आसानी से पूरा कर सकते है और अपनी बेटी का खाता न्यूनतम 250 रूपये में बैंक में खुलवा सकते है |इस SSY 2022 से देश की लड़कियों को प्रोत्साहन मिलेगा और वह आगे बढ़ पायेगी |इस योजना के ज़रिये लड़कियों की भ्रूण हत्या को रोकना |

Interest Rate in SSY 2022

Financial Year Interest  rate
From April 1, 2014 9.1%
From April 1, 2015 9.2%
From April 1, 2016 -June 30, 2016 8.6%
From July 1, 2016-September 30, 2016 8.6%
From October 1, 2016-December 31, 2016 8.5%
From January 1, 2018 – March 31, 2018 8.3%
From April 1, 2018 -June 30, 2018 8.1%
From July 1, 2018 -September 30, 2018 8.1%
From October 1, 2018 – December 31, 2018 8.5%
From July 1, 2016 8.4%

SSY Scheme 2022                                                      

इस योजना के अंतर्गत खाता खुलने के बाद यह खाता कन्या के 18 साल के होने के बाद या 21 साल के होने के बाद शादी होने तक चलाई जा सकती है | SSY 2022 के तहत व्यक्ति अपनी  कन्या की आयु 18 वर्ष होने के पश्चात उसकी पढाई के लिए कुल जमा राशि में से 50 % निकल सकते है और बेटी के 21 साल के होने के पश्चात् शादी के लिए पूरी जमा धनराशि निकाल सकते है जिसमे लाभार्थी द्वारा जमा की गयी धनराशि और और एजेंसी द्वारा भुगतान की गयी ब्याज धनराशि भी शामिल होगी | यह खाता बेटी के 21 साल के पुरे होने पर ही परिपक्व होगा |

 सुकन्या समृद्धि योजना खाता में धनराशि जमा कैसे करे

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 खाते के धनराशि केश ,डिमांड ड्राफ्ट से जमा कर सकते है या जिस पोस्ट ऑफिस या बैंक में कोर बैंकिंग सिस्टम मौजूद हो उसमे इलेक्टॉनिक ट्रांसफर मोड से भी जमा कर सकते है खाता खुलवाने के लिए नाम और अकॉउंट होल्डर का नाम लिखना होगा | इन सभी आसान तरीके से कोई भी व्यक्ति अपनी बेटी के खाते में पैसे जमा करवा सकते है |

आयु तक खोला जा सकता है सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 0 आयु से लेकर 10 साल की आयु तक बेटी का बैंक अकाउंट खोला जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत यदि बेटी की आयु 10 वर्ष से ज्यादा है तो बैंक अकाउंट नहीं खोला जा सकता। अकाउंट का संचालन बेटी के माता-पिता या फिर अभिभावक के पास होगा।

एसएसवाई सुकन्या समृद्धि योजना परिपक्वता और आंशिक निकासी

कुछ लोग समझते है कि सुकन्या समृद्धि खाता 21 वर्ष की होने के साथ परिपक्व हो जाता है लेकिन यह पूरी तरह से गलत है। खाते की परिपक्वता के साथ लड़की की उम्र का कोई संबंध नहीं है।हालांकि, खाताधारक केवल तभी राशि निकाल सकता है जब वह 18 वर्ष की आयु प्राप्त करता है और राशि का उपयोग उच्च अध्ययन और विवाह के लिए किया जा रहा है।इसकी परिपक्वता के बाद खाता बंद कर दिया जाएगा। सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी मृत्यु प्रमाण पत्र के उत्पादन पर खाताधारक की मृत्यु की स्थिति में खाते को समय से पहले बंद करने की अनुमति है। फिर शेष को अभिभावक को जमा किया जाता है और खाता बंद कर दिया जाता है।

किन स्थितियों में सुकन्या समृद्धि खाता मैच्योरिटी से पहले बंद हो सकता है?

यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद करवाया जा सकता है। इस स्थिति में खाताधारक का मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा। जिसके पश्चात इस खाते में जमा धनराशि बेटी के अभिभावक को ब्याज सहित लौटा दी जाएगी। इसके अलावा सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवाने के 5 साल बाद भी किसी कारणवश बंद कराया जा सकता है। इस स्थिति में सेविंग बैंक अकाउंट के हिसाब से ब्याज दर मिलेगी। खाते में से 50% धनराशि बेटी की पढ़ाई के लिए भी निकाली जा सकती है। यह निकासी बेटी के 18 वर्ष के होने के बाद ही की जा सकती है।

यदि सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत नहीं जमा हो पाई तो क्या होगा?

किसी कारणवश Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाताधारक रकम नहीं जमा कर पाता है तो उसे ₹50 सालाना की पेनल्टी देनी होगी। और इसी के साथ हर साल की न्यूनतम राशि का भुगतान करना होगा। यदि पेनल्टी नहीं चुकाई गई तो सुकन्या समृद्धि योजना खाते में सेविंग अकाउंट के बराबर ब्याज दर मिलेगा जो चार फीसदी है।

PM Kanya Yojana टैक्स बेनिफिट

इनकम टैक्स अधिनियम 1961 के सेक्शन 80C के अंतर्गत सुकन्या समृद्धि योजना में जमा की गई धनराशि,ब्याज की राशि तथा मेच्योरिटी अमाउंट को टैक्स फ्री किया है। इस योजना के अंतर्गत किए गए योगदान पर सरकार द्वारा छूट प्रदान की गई है जो कि प्रतिवर्ष ₹150000 तक है।

सुकन्या समृद्धि योजना कर लाभ

  • आयकर अधिनियम के अनुसार, इस योजना के तहत किए गए सभी निवेश कर कटौती के लाभ के लिए पात्र हैं। SSY की ओर अधिकतम 1.5 लाख की कर कटौती स्वीकार्य है।
  • इसके तहत ब्याज जमा होता है, जिसे वार्षिक आधार पर खाते में जमा किया जाता है। इस अर्जित / संचित ब्याज पर कोई कर नहीं लगाया जाता है। यह योजना के तहत धन को अधिकतम करने की अनुमति देता है।
  • टैक्स छूट का दावा या तो लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा किया जा सकता है। केवल एक जमाकर्ता आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट के लिए पात्र है।

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के मुख्य तथ्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य को सुरक्षित रखने और उनकी पढ़ाई तथा शादी के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत निवेश करके बेटी के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है। इस योजना की कुछ विशेषताएं है जो की कुछ इस प्रकार है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 साल से कम उम्र की बेटी का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत एक परिवार की अधिकतम दो बच्चों का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • कुछ विशेष परिस्थितियों में एक परिवार की तीन बच्चों का अकाउंट भी खुलवाया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत नियुन्तम ₹250 में अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 1 वित्त वर्ष में नियुन्यम ₹250 का निवेश तथा अधिकतम ₹1.5 लाख रुपए का निवेश किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत 7.6% ब्याज दर निर्धारित की गई है।
  • सेक्शन 80C इनकम टैक्स अधिनियम के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत टैक्स छूट भी मिलती है।
  • इस योजना के माध्यम से मिलने वाला रिटर्न भी टैक्स फ्री है।
  • बेटी की उच्च शिक्षा के लिए भी सुकन्या समृद्धि योजना से 50% की रकम निकाली जा सकती है।
  • Sukanya Samriddhi Yojana 2022  बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है |
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी राष्ट्रीयकृत बैंक ,पोस्ट ऑफिस ,एसबीआई ,आईसीआईसीआई ,पीएनबी ,एक्सिस बैंक ,एचडीएफसी , आदि इन सभी बैंको में अपनी बेटी के लिए खाता खुलवा सकते है

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अधिकृत बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना खाते खोलने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा अधिकृत कुल 28 बैंक हैं। उपयोगकर्ता निम्नलिखित में से किसी भी बैंक में SSY खाता खोल सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते है ।

  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक

PM Kanya Yojana 2022 के लाभ

  • इस योजना का लाभ देश की 10 से कम आयु की लड़कियों को प्रदान किया जायेगा ।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, बालिकाओं के अभिभावक उनके लिए बचत खाता खोल सकते हैं। जब तक वह बालिका 10 वर्ष की नहीं हो जाती है ।
  • इस योजना के तहत चालू वित्त वर्ष के दौरान अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।
  • PM Kanya Yojana 2022 के तहत आप अपनी बच्चियों के भविष्य को आसानी से सुरक्षित कर सकते है।
  • यह आपकी लड़की की शिक्षा या शादी में मदद करेगा।
  • इस योजना को आप किसी भी बैंक या डाकघर में आसानी से शुरू कर सकते हैं।
  • यह योजना लड़की और उनके माता-पिता / अभिभावक दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह दोनों की मदद करता है।
  • अभिभावक या प्राकृतिक माता-पिता को केवल दो लड़कियों के लिए इस योजना के तहत खाता खोलने की अनुमति है ।
  • जमाकर्ता लड़की की ओर से खाता खोलने की तारीख से चौदह साल पूरा होने तक खाते में पैसा जमा कर सकता है।

SSY 2022 के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए कन्या की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए |
  • आधार कार्ड
  • बच्चे और माता पिता की तस्वीर
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण
  • जमा कर्ता(माता -पिता या क़ानूनी अभिभावक ) यानि पैन कार्ड ,राशन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस

सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खुलवाने के नियम

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता बेटी के माता-पिता या फिर कानूनी अभिभावकों के द्वारा खुला या खुलवाया जा सकता है। इस खाते को बेटी के जन्म से 10 साल का होने तक खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए केवल एक ही खाता खुलवाया जा सकता है तथा खाता खुलवा आते समय बेटी का बर्थ सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होगा। इसी के साथ साथ अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि पहचान पत्र तथा पते का प्रमाण भी जमा करना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ नियम व शर्तें

निवेश की शर्तें एवं नियम

  • खाता खुलवाने की आयु: सुकन्या समृद्धि खाता बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।
  • खाते की संख्या: एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता इस योजना के अंतर्गत खोला जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए माता द्वारा अलग तथा पिता द्वारा अलग खाता ही नहीं संचालित किया जा सकता।
  • परिवार के खाताधारकों की संख्या: एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • जुड़वा बेटियों की स्थिति में एक परिवार की खाताधारक की संख्या: यदि जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं।
  • खाते का संचालन: सुकन्या समृद्धि खाते को खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है।

न्यूनतम एवं अधिकतम राशि जमा करने के नियम व शर्तें

  • न्यूनतम खाता खोलने के लिए राशि: इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है।
  • न्यूनतम प्रतिवर्ष निवेश: प्रत्येक वर्ष इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना होगा।
  • डिफॉल्ट की स्थिति: यदि खाताधारक द्वारा प्रतिवर्ष न्यूनतम 250 रुपए का निवेश नहीं किया गया तो इस स्थिति में खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा। यदि खाता डिफॉल्ट हो गया है तो इस स्थिति में खाते में 250 रुपए की न्यूनतम राशि का भुगतान एवं ₹50 की पेनल्टी का भुगतान करके खाते को पुनर्जीवित किया जा सकता है।
  • अधिकतम निवेश राशि: सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अधिकतम ₹150000 तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।
  • खाता खोलने के महत्वपूर्ण दस्तावेज: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए अभिभावक को form-1, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तथा अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना होगा।
  • निवेश करने की अवधि: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की तिथि से 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।

परिपक्वता, कर लाभ एव ब्याज दरें से संबंधित नियम व शर्तें

  • परिपावकता आयु: सुकन्या समृद्धि खाता खुलने से 21 साल बाद या फिर बालिका के विवाह के समय 18 वर्ष की आयु होने के बाद परिपक्व हो जाएगा।
  • इंटरेस्ट रेट: सरकार द्वारा हर तिमाही आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना दी जाएगी। जनवरी 2022 से मार्च 2022 के लिए इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट 7.6% है।
  • ब्याज राशि: इस योजना के अंतर्गत ब्याज राशि वित्तीय वर्ष के अंत में खाते में जमा किया जाएगा। सुकन्या समृद्धि खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है।
  • कर लाभ: सेक्शन 80C के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत किया गया निवेश कर मुक्त है। इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुआ ब्याज तथा परिपक्वता राशि भी कर मुक्त है।

खाते की प्रीमेच्योर क्लोजर से संबंधित नियम व शर्ते

  • प्रीमेच्योर क्लोजर: सुकन्या समृद्धि खाते को समय से पहले (खाता खोलने के 5 साल बाद) बंद कराया जा सकता है।
  • खाता धारक की मृत्यु: यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में यह खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • जानलेवा रोग की स्थिति: यदि खाताधारक को किसी प्रकार का जानलेवा रोग हो जाता है तो इस स्थिति में भी यह खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • अभिभावक की मृत्यु: खाताधारक के अभिभावक (जो खाते का संचालन करता है) की मृत्यु की स्थिति में भी यह खाता बंद करवाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाते से पैसे निकालने के नियम व शर्तें

  • निकासी करने की स्थिति: सुकन्या समृद्धि योजना खाते से पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% तक की निकासी की जा सकती है। यह निकासी बालिका की शिक्षा के लिए की जा सकती है।
  • निकासी करने के लिए आयु: यह निकासी बालिका की 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद (दोनों में से जो भी पहले हो) की जा सकती है।
  • निकासी का प्रकार: खाते से निकासी एक साथ की जा सकती है या फिर किस्तों में भी की जा सकती है।

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 खाता खोलने का आवेदन फॉर्म

  • जो इच्छुक लाभार्थी इस योजन के अंतर्गत बचत खाता खोलने के लिए  आवेदन करना चाहते है तो उन्हें सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना अकॉउंट ओपनिंग फॉर्म को डाउनलोड करना होगा |
  • इसके बाद सभी आवश्यक जानकारी के साथ आवेदन फॉर्म भरना होगा |सभी जानकारी भरने के बाद फ्रॉम के साथ अपने सभ ज़रूरी दस्तावेज़ों को अटैच करना होगा |
  • फिर वांछित बैंक और पोस्ट ऑफिस में आवेदन फॉर्म और दस्तावेज़ों को राशि के साथ जमा करना होगा

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट बैलेंस चेक करने की प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना को भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया था। जिसके अंतर्गत निवेश पर 7.6 प्रतिशत ब्याज प्रदान किया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से एक्सेस की जा सकती है। आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपना अकाउंट बैलेंस बहुत आसानी से चेक कर सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट इस समय लगभग 25 से भी अधिक बैंक प्रदान कर रहे हैं। आपको इन बैंक में जाकर अपना खाता खुलवाना होगा। इसके पश्चात आपको बैंक द्वारा पासबुक प्रदान की जाएगी। आप पासबुक के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपना अकाउंट बैलेंस चेक कर सकते हैं ।यह अकाउंट बैलेंस डिजिटल या फिर अकाउंट स्टेटमेंट के माध्यम से चेक किया जा सकता है। कीअकाउंट बैलेंस चेक करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको अपने बैंक में आपको लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्रदान करने का अनुरोध करना होगा।
  • यह लॉगइन क्रैडेंशियल्स सभी बैंकों द्वारा प्रदान नहीं किए जाते हैं। केवल कुछ बैंक की यह सुविधा प्रदान करते हैं।
  • लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्राप्त करने के बाद आपको बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग इन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • अब आपको कंफर्म बैलेंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप कंफर्म बैलेंस के विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की राशि खुलकर आ जाएगी।
  • केवल इसी माध्यम से सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक किया जा सकता है।

डिफॉल्ट खाते को रिवाइव करने की प्रक्रिया

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि खाते में न्यूनतम ₹250 रुपए का निवेश करना अनिवार्य है। यदि खाताधारक द्वारा न्यूनतम ₹250 का निवेश नहीं किया जाता है तो इस स्थिति में खाते को डिफॉल्टर माना जाता है। खाता डिफॉल्ट होने के बाद खाते को रिवाइव किया जा सकता है। खाता रिवाईव खाता खुलवाने की तिथि से 15 साल तक किया जा सकता है। खाता रिवाइव करवाने के लिए आपको उन सभी सालों का जिनमें आपने न्यूनतम निवेश नहीं किया है न्यूनतम निवेश जो कि ₹250 है करना होगा और इसके साथ ₹50 प्रति वर्ष पेनल्टी का भुगतान करना होगा। यह भुगतान करने के बाद आपका खाता रिवाइव कर दिया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना ब्याज तय करने की प्रक्रिया

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत निवेश पर 7.6% के ब्याज का भुगतान किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत ब्याज की गणना करने का तरीका सरकार द्वारा फिक्स किया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 5वें दिन की क्लोजिंग और महीने के बीच खाते में सबसे कम बैलेंस पर ब्याज कैलकुलेट किया जाता है। सरकार द्वारा प्रतिवर्ष ब्याज की दरें बदली जाती हैं एवं ब्याज की रकम साल के अंत में लाभार्थी के खाते में जमा की जाती है। इस योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले डिपॉजिट पर सेक्शन 80सी के अंतर्गत डिडक्शन भी मिलता है।

प्यारे दोस्तों सुकन्या समृद्धि योजना की जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इस योजना से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तुम्हारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए हम उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं जिससे आप प्रधानमंत्री योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे 
67 thoughts on “सुकन्या समृद्धि योजना 2022|कैलकुलेटर|चार्ट इन हिंदी”

Leave a Reply

Your email address will not be published.