मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना |सॉइल हेल्थ कार्ड|सॉइल हेल्थ कार्ड कैसे बनाये|प्रधानमंत्री मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना|मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना|Soil Health Cards scheme|Pm Soil Health Cards yojana

प्यारे दोस्तों आज हम अपने इस आर्टिकल में प्रधानमंत्री मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना जानकारी देने जा रहे हैं| हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का लाभ उठा सकते हैं| भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना शुरुआत की हैं| केंद्र सरकार ने युवाओं रोजगार देने के लिए नया क्या कदम उठाया है|मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना जहाँ एक ओर किसानों के लिये वरदान साबित हो रही है, वहीं ग्रामीण युवाओं के लिये यह रोज़गार का माध्यम भी बनी है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड में उर्वरकों की फसलवार सिफारिशें मुहैया कराई जाती हैं और इसके साथ ही किसानों को यह भी बताया जाता है कि कृषि‍ भूमि की उर्वरा क्षमता को किस प्रकार बढ़ाया जा सकता है।

इससे किसानों को अपनी भूमि की सेहत जानने तथा उर्वरकों के विवेकपूर्ण चयन में मदद मिलती है। मृदा यानि कृषि भूमि की सेहत और खाद के बारे में पर्याप्त जानकारी न होने के चलते किसान आम तौर पर नाइट्रोजन का अत्यधिक प्रयोग करते हैं, जो न सिर्फ कृषि उत्पादों की गुणवत्ता के लिये खतरनाक है बल्कि इससे भूमिगत जल में नाइट्रेट की मात्रा भी बढ़ जाती है। इससे पर्यावरणीय समस्याएँ भी उत्पन्न होती हैं। मृदा स्वास्थ्य कार्ड के ज़रिये इन समस्याओं से बचा जा सकता है।

मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना|Soil Health Cards scheme

  • योजना के दूसरे चरण में बीते दो वर्षों में कृषि मंत्रालय ने किसानों को 11.69 करोड़ मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किये हैं।
  • केंद्र सरकार द्वारा मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण के पहले चरण (वर्ष 2015 से 2017) में 10.74 करोड़ कार्ड और दुसरे चरण (वर्ष 2017-2019) में 11.69 करोड़ कार्ड वितरित किये गए हैं।
  • इन कार्डों की सहायता से किसान अपने खेतों की मृदा के बेहतर स्वास्थ्य और उर्वरता में सुधार के लिये पोषक तत्त्वों का उचित मात्रा में उपयोग करने के साथ ही मृदा की पोषक स्थिति की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं।
  • राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद (National Productivity Council- NPC) द्वारा किये गए अध्ययन के अनुसार, मृदा स्वास्थ्य कार्ड पर सिफारिशों के तहत रासायनिक उर्वरकों के उपयोग में 8 से 10 प्रतिशत तक की कमी आई है, साथ ही उपज में 5-6 प्रतिशत तक वृद्धि हुई है।
  • मृदा परीक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना हेतु इस योजना के तहत राज्यों के लिये अब तक 429 नई स्टेटिक लैब (Static Labs), 102 नई मोबाइल लैब (Mobile Labs), 8752 मिनी लैब (Mini Labs), 1562 ग्रामस्तरीय प्रयोगशालाओं की स्थापना और 800 मौजूदा प्रयोगशालाओं के सुदृढ़ीकरण को मंज़ूरी दी गई हैं।

Soil Health Card Scheme 2021 Highlights

योजना का नाम सॉइल हेल्थ कार्ड योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
कब शुरू की गयी वर्ष 2015
उद्देश्य देश के किसानो को लाभ पहुँचाना
विभाग कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार
ऑफिसियल वेबसाइट https://soilhealth.dac.gov.in/

सॉइल हेल्थ कार्ड का लाभ

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश भर के किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किये जाने में राज्यों का सहयोग करना है।
  • इस योजना की थीम है: स्वस्थ धरा, खेत हरा।
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण युवा एवं किसान जिनकी आयु 40 वर्ष तक है, मृदा परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना एवं नमूना परीक्षण कर सकते हैं।
  • प्रयोगशाला स्थापित करने में 5 लाख रूपए तक का खर्च आता हैं, जिसका 75 प्रतिशत केंद्र एवं राज्य सरकार वहन करती है। स्वयं सहायता समूह, कृषक सहकारी समितियाँ, कृषक समूह या कृषक उत्पादक संगठनों के लिये भी यहीं प्रावधान है।
  • योजना के तहत मृदा की स्थिति का आकलन नियमित रूप से राज्य सरकारों द्वारा हर 2 वर्ष में किया जाता है, ताकि पोषक तत्त्वों की कमी की पहचान के साथ ही सुधार लागू हो सकें।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लक्ष्य 

  • देश के सभी किसानों को प्रत्येक 3 वर्ष में मृदा स्वास्थ्य कार्ड जारी करना, ताकि उर्वरकों के इस्तेमाल में पोषक तत्त्वों की कमियों को पूरा करने का आधार प्राप्त हो सके।
  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद/राज्य कृषि विश्वविद्यालयों के संपर्क में क्षमता निर्माण, कृषि विज्ञान के छात्रों को शामिल करके मृदा परीक्षण प्रयोगशालाओं के क्रियाकलाप को सशक्त बनाना।
  • राज्यों में मृदा नमूनों को एकीकृत करने के लिये मानकीकृत प्रक्रियाओं के साथ मृदा उर्वरता संबंधी बाधाओं का पता लगाना और विश्लेषण करना तथा विभिन्न ज़िलों में तालुका/प्रखंड स्तरीय उर्वरक संबंधी सुझाव तैयार करना।
  • पोषक तत्त्वों का प्रभावकारी इस्तेमाल बढ़ाने के लिये विभिन्न ज़िलों में पोषण प्रबंधन आधारित मृदा परीक्षण सुविधा विकसित करना और उन्हें बढ़ावा देना।
  • पोषक प्रबंधन परंपराओं को बढ़ावा देने के लिये ज़िला और राज्यस्तरीय कर्मचारियों के साथ-साथ प्रगतिशील किसानों का क्षमता निर्माण करना।

आदर्श गाँवों का विकास नामक पायलेट प्रोजेक्ट

  • चालू वित्तीय वर्ष के दौरान आदर्श गाँवों का विकास नामक पायलेट प्रोजेक्ट के अंतर्गत किसानों की सहभागिता से कृषि जोत आधारित मिट्टी के नमूनों के संग्रहण और परीक्षण को बढ़ावा दिया जा रहा है।
  • प्रोजेक्ट के कार्यान्वयन हेतु प्रत्येक कृषि जोत पर मिट्टी के नमूनों के एकत्रीकरण एवं विश्लेषण हेतु प्रत्येक ब्लॉक में एक-एक आदर्श गाँव का चयन किया गया है। इसके अंतर्गत किसानों को वर्ष 2019-20 में अब तक 13.53 लाख मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किये जा चुके हैं।

Soil Health Card Scheme में आवेदन कैसे करे ?

देश के जो इच्छुक लाभार्थी मृदा स्वास्थ् कार्ड योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे |

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | Official Website पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
Soil Heath Card Scheme
  • इस होम पेज पर आपको Login के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा | इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा इस पेज पर आपको अपने State का चयन करना करना होगा |
सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम
  • स्टेट का चयन करने के बाद आपको Continue के बटन पर क्लिक करना होगा | इसके बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा |
  • इस पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म खुल जायेगा इसमें आपको नीचे New Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा | ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा |
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड Application Form
  • इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको User Organisation Details, Language, User Details, User Login Account Details आदि सभी पूछी गयी जानकारी भरनी होगी |
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा | सफल रजिस्ट्रेशन के बाद आपको लॉगिन करना होगा | आपको होम पेज पर  लॉगिन फॉर्म को खोलना होगा |
login form soil health card
  • लॉगिन फॉर्म में आपको अपना यूज़र नेम ,और पासवर्ड डालकर होगा | इस तरह आप मृदा स्वास्थय कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है |

सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम 2021 प्रिंट कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा |ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम  पेज खुल जायेगा |
  • इस होम पेज पर आपको Farmer Corner में Print Soil Health Card का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
सॉइल हेल्थ कार्ड print
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा | इस पेज पर आपको अपने state का चयन करना होगा |
  • चयन करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा | इस फॉर्म में आपको district, villege, farmers name आदि जानकारी भरनी होगी |
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा | इसके पश्चात् आपके सामने मृदा स्वास्थ्य कार्ड खुल जायेगा और आप प्रिंट कर ले |

Soil Health Card पर लॉगइन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको सॉइल हेल्थ पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगइन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा। जिसमें आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।
  • अब आपको कंटिन्यू के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको यूजरनेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड भरकर लॉगइन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर पाएंगे।

अपना सैंपल ट्रैक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको सॉइल हेल्थ पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। अब आपके सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको फार्मर कॉर्नर के अंतर्गत ट्रैक your सैंपल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपने राज्य, जिले, मंडल तथा गांव का चयन करना होगा तथा फार्मर का नाम, विलेज ग्रिड नंबर तथा सैंपल नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आप का सैंपल स्टेटस आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा।

सॉइल टेस्टिंग लैबोरेट्री लोकेट करने की प्रक्रिया

मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना
  • उसके बाद आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपने राज्य तथा डिस्ट्रिक्ट का चयन करना होगा।
  • अब आपको व्यू रिपोर्ट या फिर व्यू मैप के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • यदि आप व्यू रिपोर्ट के बटन पर क्लिक करेंगे आपके सामने सॉइल टेस्टिंग लैब की सूची खुलकर आ जाएगी और यदि आप व्यू मैप के बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने मैप खुलकर आएगा जिसमें आपको सारे नजदीकी सॉइल टेस्टिंग लैबोरेट्री मिल जाएंगी।

सैंपल रजिस्ट्रेशन मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको सॉइल हेल्थ पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डाउनलोड टैब के अंतर्गत सैंपल रजिस्ट्रेशन मोबाइल एप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप आपके मोबाइल फोन में डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड करके इंस्टॉल कर सकते हैं।

टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको सॉइल हेल्थ पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डाउनलोड टैब के अंतर्गत टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल एप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप आपके मोबाइल फोन में डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड करके इंस्टॉल कर सकते हैं।
One thought on “प्रधानमंत्री मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना|Pm Soil Health Cards yojana”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *