हरियाणा संजीवनी योजना

आज हम अपने इस आर्टिकल में  हरियाणा संजीवनी योजना की जानकारी देने जा रहे हैं| हम आपको बताएंगे की mukhyamantri Sanjivani Yojana Haryana क्या है| आप किस प्रकार हरियाणा संजीवनी परियोजना 2022 का लाभ उठा सकते हैं|सरकार राज्‍य में कोरोना मरीजों के लिए उमंग के बाद अब संजीवनी परियोजना शुरू करेगी। इस परियोजना हलके और मध्यम लक्षणों वाले कोरोना मरीजों की देखभाल तथा उन्हें उनके घरों पर ही इलाज की सुविधा मुहैया कराया जाएगा। प्रदेश सरकार कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को बाद में आने वाली दिक्कतों के समाधान के लिए हर बड़े अस्पताल में उमंग सेंटर खोलने का निर्णय पहले ही कर चुकी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ‘संजीवनी परियोजना’ की शुरुआत सोमवार को करनाल से पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर करेंगे। इसे फिर राज्य के बाकी जिलों में संचालित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल के प्रधान सचिव वी उमाशंकर के अनुसार ‘संजीवनी परियोजना’ अत्यधिक जरूररतमंद लोगों की तत्काल जरूरी चिकित्सा देखभाल करने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। ‘संजीवनी परियोजना’ उन ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा देखभाल का विस्तार करेगी, जहां वायरस की दूसरी लहर के फैलने और इस बीमारी के इलाज के बारे में जागरूकता की कमी है। सरकार का मानना है कि सही प्रक्रियाओं और समुचित देखभाल से 90 प्रतिशत से अधिक रोगियों का घर पर ही इलाज किया जा सकता है।

हरियाणा संजीवनी योजना

संजीवनी परियोजना’ के तहत हर जिले में प्रशासन को समूची स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली पर पैनी नजर रखने को कहा गया है। इसके तहत अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता, आक्सीजन की आपूर्ति, एंबुलेंस ट्रैकिंग और घर-घर जागरूकता अभियान जैसे महत्वपूर्ण संसाधनों के प्रबंधन का काम शामिल है।परियोजना के तहत कोविड हाटलाइन का संचालन होगा, जो संदिग्ध या क्लीनिक में इलाज किए गए कोविड-19 के रोगियों को जरूरी जानकारी देगी। मेडिकल इंटर्न के अलावा 200 मेडिकल फाइनल ईयर और प्री-फाइनल ईयर के छात्रों को जुटाकर उन्हें सलाहकारों और विशेषज्ञों से जोड़ा जाएगा। उनके द्वारा भी लोगों का उपचार किया जाएगा।

Sanjivani Yojana Haryana 2022

योजना का नाम हरियाणा संजीवनी परियोजना 2022
किसने आरंभ की हरियाणा सरकार
लाभार्थी हरियाणा के किसान
उद्देश्य क्लीनिक में इलाज किए गए कोविड-19 के रोगियों
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2022

संजीवनी योजना हरियाणा उद्देश्य

अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता, ऑक्सीजन की आपूर्ति, एंबुलेंस ट्रैकिंग और घर-घर जागरूकता अभियान जैसे महत्वपूर्ण संसाधनों के प्रबंधन के लिए एक एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र प्रदान करेगी।परियोजना के तहत कोविड हॉटलाइन का संचालन होगा, जो संदिग्ध या क्लीनिक में इलाज किए गए कोविड-19 के रोगियों को बुनियादी प्रशिक्षण व मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए मौजूदा कॉल सेंटर की क्षमताओं को बढ़ाएगी।

मेडिकल इंटर्न के अलावा 200 मेडिकल फाइनल ईयर और प्री-फाइनल ईयर के छात्रों को जुटाकर उन्हें सलाहकारों और विशेषज्ञों से जोड़ कर  चिकित्सा सलाह के दायरे का विस्तार करेगी।कोविड-19 के हल्के से मध्यम मरीजों को उपचार और निगरानी प्रदान करने के लिए टेलीमेडिसिन व आभासी स्वास्थ्य क्षमताओं को बढ़ाएगी। होम केयर किट का वितरण किया जाएगा, जिसमें एक मास्क, एक ऑक्सीमीटर, एक थर्मामीटर और बुनियादी दवाएं शामिल हैं। अतिरिक्त एंबुलेंस की खरीद और मोबाइल फार्मेसियों का विकास किया जाएगा। 

आत्मनिर्भर हरियाणा 15000 रुपये लोन योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *