राजस्थान दिशारी योजना-राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान|दिशारी योजना राजस्थान|

राजस्थान  विद्यार्थियोंको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने और क्षमता संवर्धन के लिए चलाई जा रही दिशारी योजना की शुरुआत के बाद कॉलेज की 404 नियमित छात्राएं अपना पंजीकरण करवा चुकी हैं। यह राशि छात्राओं को किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर दोबारा लौटाई जाएगी। कॉलेज परिसर में इन कक्षाओं का नियमित संचालन हो रहा है। प्राचार्य डाॅ ऋतु मथारु ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए निजी संस्थानों में बहुत ज्यादा शुल्क लिया जाता है|

जो कि जनजाति क्षेत्र की गरीब छात्राओं के लिए वहन करना मुश्किल है। इसलिए यह कोचिंग उनके लिए वरदान है। योजना समन्वयक डाॅ. अंजु बेनीवाल ने कहा कि छात्राएं पूरे मनोयोग से इन कक्षाओं में अध्ययन कर रहीं हैं। दिशारी योजना में 404 छात्राओं का अब तक हुआ पंजीयनउदयपुर | विद्यार्थियोंको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने और क्षमता संवर्धन के लिए चलाई जा रही|

राजस्थान दिशारी योजना

दिशारी योजना के तहत महाविद्यालय की 404 नियमित छात्राओं ने पंजीकरण करवाया। छात्राओं द्वारा जमा करवाए पंजीकरण शुल्क को किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर पुनः लौटा दिया जाएगा। महाविद्यालय परिसर में इन कक्षाओं का नियमित संचालन हो रहा है तथा मानसिक योग्यता एवं गणितीय दक्षता में अनुभवी एवं विषय में पारंगत शिक्षक, छात्राओं को पढ़ा रहे है|महाविद्यालय प्राचार्य डॉ ऋतु मथारु ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए निःशुल्क कोचिंग कार्यक्रम छात्रों के लिए एक वरदान की भांति है जो उनकी सफलता को न केवल सुनिश्चित करेगा वरन उनके उज्ज्वल भविष्य के निर्माण में मील का पत्थर का साबित होगा।इस योजना की समन्वयक डॉ. अंजु बेनीवाल ने बताया कि छात्राएं पूरे मनोयोग के साथ इन कक्षाओं में अध्ययन कर रहीं हैं। उन्होनें छात्राओं को अंग्रेजी में दक्षता हासिल करने के लिए यूपीईआर एप फ्री डाउनलोड करवाया।

इस योजना के तहत प्रति सप्ताह छात्राओं के अर्जित ज्ञान का मूल्यांकन करने के लिए कक्षा परीक्षा भी ली जा रही है। इसके साथ ही आयुक्तालय से प्राप्त दिशारी किट का वितरण भी छात्राओं को किया जाएगा। राजस्थान सरकार ने दिशारी योजना को विद्यार्थियों के लिए शुरू किया है। इस योजना के तहत विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने और क्षमता संवर्धन के लिए चलाई गई है। इस योजना के द्वारा लाभ लेने के लिए इच्छुक आवेदक को पंजीकरण करवाना होगा। प्राचार्य डाॅ ऋतु मथारु ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए निजी संस्थानों में बहुत ज्यादा शुल्क लिया जाता है, जो कि जनजाति क्षेत्र की गरीब छात्राओं के लिए वहन करना मुश्किल है। समन्वयक डॉ. ममता शर्मा ने बताया कि आवेदन शुरू हो चुके हैं और कक्षाएं 25 सितंबर, 2017 से कॉलेज परिसर में शुरू कर दी गई है। विद्यार्थी नोडल अधिकारी उपेंद्र सिंह, सह समन्वयक डॉ. अश्वनी कुमार वर्मा से संपर्क कर सकते हैं।

राजस्थान दिशारी योजना के लिए पात्रता

  • दिशारी योजना के तहत महाविद्यालय की 404 नियमित छात्राओं ने पंजीकरण करवाया।
  • इच्छुक छात्राएं 500 रुपये का आवेदन शुल्क जमा कराकर 5 सितम्बर तक अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगी।
  • इस योजना के अन्तर्गत सायंकालीन कक्षाओं का आयोजन किया जायेगा।
  • छात्राओं द्वारा जमा करवाए पंजीकरण शुल्क को किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर पुनः लौटा दिया जाएगा।

राजस्थान दिशारी योजना  ऑनलाइन आवेदन

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान क्लिक करें

दोस्तों आपको राजस्थान दिशारी योजना किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published.