प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान|प्रधानमंत्री डिजिटल योजना|प्रधान मंत्री ग्रामीण डिजिटल योजना|राष्ट्रीय डिजिटल साक्षरता अभियान|डिजिटल साक्षरता अभियान|

भारत के प्यारे देशवासियों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एक नया अभियान जारी किया है|इस अभियान का नाम प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान रखा गया है प्रधानमंत्री डिजिटल योजना से गांव के लोगों को स्वच्छता के बारे में बताना है| इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ग्रामीण डिजिटल योजना की पहल की है| राष्ट्रीय डिजिटल साक्षरता अभियान का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों के लोगों को स्वच्छता के बारे में बताना है| डिजिटल साक्षरता अभियान जिसमें भारत के छह करोड़ ग्रामीण नागरिकों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाने की परिकल्पना की गई है| इस योजना से डिजिटल वित्तीय लेन-देन और सूचना ज्ञान को बढ़ावा मिलता है| जो भी डिजिटल रूप से समाज को शिक्षक बनाने के लिए इस योजना का गठन किया है| ताकि गांव के लोग भी डिजिटल इंडिया में आ सकें और डिजिटल रूप के द्वारा लेनदेन कर सकें इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान चलाया है|

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDSA)एक नई आगामी योजना है। 8 फरवरी 2017 को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इस योजना को मंजूरी दे दी गई है। 2,351.38 करोड़ रुपये की योजना के माध्यम से मार्च 2019 तक 6 करोड़ ग्रामीण परिवारों को डिजिटल रूप से साक्षर बनाना लक्ष्य रखा गया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में डिजिटल इंडिया पहल के तहत मार्च 2019 तक योजना को लागू करने के लिए 2,351.38 रुपये के परिव्यय के साथ इस योजना को मंजूरी दे दी है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDSA) शुरू होने के बाद दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम होगा। इस योजना को राज्य कार्यान्वयन एजेंसियों, जिला ई-गवर्नेंस सोसायटी (DeGS), आदि के माध्यम से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सक्रिय सहयोग से इलेक्ट्रानिक्स मंत्रालय की देखरेख में लागू किया जाएगा।

योजना को बहुत जल्द ही शुरू किया जाएगा क्योंकि सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष के भीतर करीब 25 लाख उम्मीदवारों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा है। 6 करोड़ में से 2.75 करोड़ को वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रशिक्षित किया जाएगा और बाद में वित्तीय वर्ष 2018-19 में 3 करोड़ लोगों को प्रशिक्षित किया जायेगा।

ग्रामीण भारत के 6 करोड़ नागरिकों को दो साल के भीतर बेसिक डिजिटल साक्षरता प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए योजना को फरवरी 2017 में शुरू किया गया, योजना के तहत हर घर से कम से कम एक व्यक्ति को लक्षित करने की योजना है।

PMGDISHA के तहत प्रशिक्षित नागरिकों को कंप्यूटर, टैबलेट, स्मार्ट फोन जैसे डिजिटल उपकरणों के संचालन में कुशल बनाने और उन्हें अपने कौशल और ज्ञान को बढ़ाने के लिए है ताकि वे अपने दैनिक जीवन में इंटरनेट का इस्तेमाल करके सरकार की नागरिक सेवाओं, स्वास्थ्य सेवा, और वित्तीय सेवाओं का उपयोग कर सकें।

योजना का उद्देश्य नागरिकों के बीच डिजिटल वित्तीय लेनदेन को सक्षम करने के लिए ध्यान केंद्रित करना है। आधार संख्या को लाभार्थी के बैंक खाते से जोड़ने से पहले ही नागरिकों को विभिन्न ऑनलाइन सरकारी सेवाएँ प्रदान की जाएंगी जैसे कि रेलवे टिकट की बुकिंग, पासपोर्ट का आवेदन आदि। सक्रिय रूप से प्रशासन में प्रशिक्षण के बाद नागरिकों को तकनीक लाभ उठाने और भाग लेने में सक्षम बनाना है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDSA) के माध्यम से डिजिटल भारत के उद्देश्य को पूरा करने में मदद मिलेगी। साक्षर लोगों को ऑनलाइन कैशलेस लेनदेन के बारे में भी प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे केन्द्र सरकार की कैशलेस भारत पहल में भी योगदान मिलेगा। लोगों को मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने में सक्षम किया जायेगा।

सरकार ने इस योजना के तहत ग्रामीण भारत को डिजिटल रूप से साक्षर बनाने का फैसला लिया गया है। एनएसएसओ (NSSO) के 2014 के सर्वेक्षण के अनुसार 16.85 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से केवल 1.8 करोड़ परिवारों के पास कंप्यूटर है। इस प्रकार से शेष 15 करोड़ परिवारों में से ज्यादातर के डिजिटल अनपढ़ होने की संभावना है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान प्रमुख बातें

  • सामान्य सेवा केंद्र (सीएससी) “डिजिटल इंडिया” पहल के अभिन्न अंग हैं।
  • सीएससी,आईसीटी ग्रामीण स्तर पर सरकार की फ्रंट-एंड सेवा वितरण बिंदुओं को सक्षम करती है।कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, मनोरंजन, FMCG उत्पाद, बैंकिंग, बीमा, पेंशन,और बिल भुगतान आदि के क्षेत्रों में सरकार वित्तीय, सामाजिक और निजी क्षेत्र की सेवाएं प्रदान करेगी।
  • सीएससी केंद्र एक गांव स्तर के उद्यमी (व्हीएलई) द्वारा प्रबंधित और संचालित किया जाता है।
  • पुरे देश में 2.6 लाख सीएससी हैं और 4 से 5 व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करने के साथ प्रत्येक सीएससी 90% महिलाओं द्वारा प्रबंधित और संचालित किया जाता है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान  के लाभ

  • इस योजना से ग्रामीणों को डिजिटल टेक्नोलॉजी से नफरत कराया जाएगा|
  • ग्रामीणों को ऑनलाइन बैंकिंग के नए नए तरीकों के बारे में बताया जाएगा|
  • इस योजना के माध्यम से मोदी जी के डिजिटल इंडिया व कैशलेस इंडिया का सपना पूरा होगा|

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान आवेदन

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान में अगर आपने आवेदन करना है| तो आपको अपनी  ग्राम पंचायत जाकर प्रधान सरपंच पंच व अन्य व सदस्य से बात करके अपना नाम सूची में दर्ज करवा सकते हैं| हर ग्राम पंचायत से आवेदकों की सूची बनेगी और उसके बाद सूची सरकार के पास भेजी जाएगी सरकार द्वारा आवेदकों को शिक्षित करने के लिए शिक्षकों का चयन करके उनको हर ग्राम पंचायत में भेजा जाएगा इस प्रकार आप ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान में आवेदन कर सकते हैं|

इस योजना की अधिक जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDISHA) में आवेदन कैसे करे?     

ग्रामीण क्षेत्रो के जो लोग इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे ।

  • सर्वप्रथम आवेदक को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा । इस होम पेज पर आपको Direct Candidate का ऑप्शन दिखाई देगा ।
PMGDISHA
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा । ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको Login फॉर्म खुल जायेगा ।
  • इस लॉगिन फॉर्म के नीचे आपको Register का विकल्प दिखाई देगा । आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा । इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने registration form खुल जायेगा ।
प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान
  • इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे UIDAI Number ,Student Name , Gender , Date of Birth ,  आदि भरना होगा और नीचे दिए गए निर्देश को पढ़कर सही के निशान पर क्लिक करना होगा ।
  • उसके बाद Add पर क्लिक करना होगा ।इसके बाद आगे के पेज पर आपको अगला चरण ई – केवाईसी है जोकि या तो फिंगरप्रिंट स्कैन करके या आँखों को स्कैन करके या मोबाइल फोन में ओटीपी सत्यापित करके किया जा सकता है। जिनके पास फिंगरप्रिंट स्कैनर या रेटीना स्कैनर नहीं है, तो वे तीसरे विकल्प को चुन सकते हैं जोकि मोबाइल फोन ओटीपी सत्यापन है।
  • इसके लिए आपको वैलिड मोबाइल नंबर देना होगा, जिसमें ओटीपी भेजा जायेगा। सही ओटीपी इंटर करने के बाद आपको ‘वैलिडेट ओटीपी’ पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आप स्टूडेंट टैब में जाकर अपनी सभी जानकारी की जाँच कर सकते हैं। एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद छात्र उसमें यूजर आईडी और पासवर्ड जनरेट करके अपना नया अकाउंट खोल सकते हैं।।

पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का सर्टिफिकेट

PMGDISHA सर्टिफिकेट आपको ट्रेनिंग के बाद मिलता है। ट्रेनिंग के बाद ऑनलाइन टेस्ट होता है। इस ऑनलाइन टेस्ट में 25 सवाल पूछे जाते हैं, जिनमें से अगर 7 का सही उत्तर दे दिया जाए, तो उम्मीदवार परीक्षा पास कर जाता है व उसको PMGDISHA सर्टिफिकेट दिया जायेगा ।

PMGDISHA

ट्रेनिंग सेंटर कैसे खोलें

  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी अपना खुल का ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते है तो आपको सबसे पहले CSC-SPV ट्रेनिंग पार्टनर बनना पड़ता है।
  • ट्रेनिंग पार्टनर कोई भी NGO, संस्थान या कंपनी हो सकती है। पार्टनर बनने के लिए कुछ मानदंड हैं जो पूरे होने चाहिए। जैसे एक ट्रेनिंग पार्टनर को भारत में पंजीकृत एक संगठन होना चाहिए,
  • तीन साल से अधिक समय तक शिक्षा/आईटी साक्षरता के क्षेत्र में व्यवसाय का संचालन करना और परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) और कम से कम पिछले तीन वर्षों के खातों का परीक्षित विवरण (audit) होना।

Grievance Redressal करने की प्रक्रिया

यदि आपको ग्रीवेंस रिड्रेसल फाइल करना है तो आपको कोई फॉर्म भरने की जरूरत नहीं है। आपको केवल एक ईमेल भेजना होगा जिसमें आपको ग्राइवेंस से संबंधित जानकारी आपको लिखनी होगी। यह ई-मेल आपको grievances@pmgdisha.in पर भेजना होगा।

आरडी इंस्टॉलेशन यूजर मैन्युअल डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आरडी इंस्टॉलेशन यूजर मैनुअल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने मैनुअल फॉर आरडी इंस्टॉलेशन खुलकर आ जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड कर कर आरडी इंस्टॉल कर सकते हैं।

टीसी लोकेटर ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
टीसी लोकेटर ऐप डाउनलोड
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको टीसी लोकेटर ऐप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • जब यह ऐप डाउनलोड हो जाएगा आप इसे इंस्टॉल कर सकते हैं।

दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • जब यह ऐप डाउनलोड हो जाएगा आप इसे इंस्टॉल कर सकते हैं।

पीएमजीदिशा लर्निंग ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको पीएमजीदिशा लर्निंग ऐप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • जब यह ऐप डाउनलोड हो जाएगा आप इसे इंस्टॉल कर सकते हैं।

दोस्तों  प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान आवेदन किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

6 thoughts on “(PGDSA) प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *