UP नवीन रोजगार छतरी योजना|Navin Rojgar Chhatri Yojana

Capture-18.png

यूपी नवीन रोजगार छतरी योजना| उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना|नवीन रोजगार छतरी योजना 2021|छतरी योजना|chhatri yojana|navin rojgar chhatri yojana|

प्यारे दोस्तों हम अपने आर्टिकल में नवीन रोजगार छतरी योजना की जानकारी लेकर आए है| हम आपको बताएंगे कि यूपी नवीन रोजगार छतरी योजना क्या है| आप किस प्रकार नवीन छतरी योजना 2021 का लाभ उठा सकते हैं| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने नवीन रोजगार छतरी योजना का शुभारंभ किया है|मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर अनुसूचित जाति के गरीब व्यक्तियों के सर्वांगीण विकास के लिए ‘नवीन रोजगार छतरी योजना’ का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आर्थिक समानता ही सामाजिक समानता का आधार बनती है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 से न केवल आर्थिक जगत के साथ ही सामाजिक और अन्य व्यवस्थाएं भी प्रभावित हुई हैं। इन परिस्थितियों में भी प्रदेश सरकार लोगों को आर्थिक मदद देकर उन्हें स्वावलंबी बनाने का कार्य कर रही है। कोरोना महामारी के बीच यूपी सरकार ने विस्‍थापित व बेरोजगार हुए अनुसूचित जाति के 7.50 लाख परिवारों को नवीन रोजगार छतरी योजना के तहत आर्थिक सहायता प्रदान करने का लक्ष्‍य रखा है।

नवीन रोजगार छतरी योजना 2021

 इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि समाज में अगर एक तबका मजबूत हो जाए और एक तबका कमजोर, तो ऐसा समाज कभी भी आत्मनिर्भर समाज नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि समाज में एक संतुलन होना चाहिए। यह संतुलन न केवल सामाजिक स्तर पर बल्कि आर्थिक स्तर पर भी होना चाहिए।इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मूल मंत्र के तहत कार्य कर रही है।लाभार्थियों ने उन्हें बताया कि वे इस राशि का उपयोग परचून की दुकान, जनरेटर सेट, लॉन्ड्री व ड्राई क्लीनिंग, साइबर कैफे, टेलरिंग, बैंकिंग कॉरेस्पॉन्डेंट, टेंट हाउस, गौ-पालन आदि के लिए करेंगे। 

Naveen Rojgar Chatri Yojna 2021 

योजना का नामनवीन रोजगार छतरी योजना
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकार योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी
लाभार्थीकोरोना महामारी में विस्‍थापित व बेरोजगार श्रमिक
लाभआर्थिक सहायता
उद्देश्यदलित श्रमिकों की मदद कर रोजगार प्रदान करना
आवेदन की प्रक्रियाऑफलाइन/ ऑनलाइन

छतरी योजना के लाभ

  • प्रदेश सरकार श्रमिकों को रोजगार व उनके समायोजन के लिए प्रतिबद्ध है। उत्तर प्रदेश के श्रमिकों/कामगारों, ठेला, खोमचा, रेहड़ी लगाने वाले या दैनिक कार्य करने वाले सभी लोगों को 1000 रुपये का भरण-पोषण दिया गया है। साथ ही, निर्माण श्रमिकों को भी दो-दो बार भरण-पोषण भत्ता देने का कार्य किया गया है।
  • अब तक 01 करोड़ 25 लाख से अधिक श्रमिकों/कामगारों को रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया गया है। कोविड-19 के दौरान 03 करोड़ 56 लाख प्रधानमंत्री जनधन खातों में 500-500 रुपये की धनराशि अन्तरित की गयी।
  • दलितों और वंचितों का आर्थिक विकास समाज में संतुलन लाएगा|
  • योगी सरकार ने कोरोना के दौर में बेरोजगार अन्य राज्यों से लौटे दलित कार्यकर्ताओं की मदद की।

उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना आवश्यक दस्तावेज

  • पं दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के तहत पंजीकृत आवेदक।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण

दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना

नवीन रोजगार छतरी योजना ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने प्रत्येक बैंक शाखा को यह लक्ष्य दिया है कि वे कम से कम दो अनुसूचित जाति/जनजाति और महिला लाभार्थियों को अनिवार्य रूप से ऋण उपलब्ध कराए।

उत्तर प्रदेश में लगभग 18 हजार बैंक शाखाएं हैं। इनके माध्यम से 36 हजार लोगों को लाभान्वित किया जा सकता है।

प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका लाभ प्रत्येक जरूरतमन्द को प्राप्त हो रहा है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को प्राप्त हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top