राष्ट्रीय भर्ती नीति क्या है|करोड़ों युवाओं को फायदा

pradhan mantri yojana

केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाया है. सरकार ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी को मंजूरी दे दी है जिससे देश के करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा. केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को कहा कि आज कैबिनेट की बैठक हुई जिसमें कई अहम फैसले लिए गए|उन्होंने कहा कि नौकरी के लिए युवाओं को बहुत परीक्षा देनी पड़ती है, ये सब समाप्त करने के लिए राष्ट्रीय भर्ती संस्थान की स्थापना होगी. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय भर्ती संस्था कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट लेगी जिसका करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा. उन्होंने कहा, अब एक परीक्षा होगी उनकी तकलीफ दूर होगी और आगे जाने का मौका मिलेगा|

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि रेलवे, बैंकिंग और SSC की प्राथमिक परीक्षा के लिए अलग-अलग परीक्षा देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इन तीनों के लिए एक एजेंसी बनाई जाएगी. एक ही आवेदन, एक ही शुल्क, एक ही परीक्षा होगी. इस परीक्षा का स्कोर तीन साल के लिए मान्य होगा. अभी तक केवल दो भाषाओं में ही परीक्षा देने की इजाजत थी, लेकिन इसके जरिए परीक्षार्थी 12 भाषाओं में परीक्षा दे सकता है|उन्होंने कहा कि अभी नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी केवल तीन संस्थाओं के लिए परीक्षा लेगी, लेकिन भविष्य में सभी केंद्रीय संस्थाओं की परीक्षा यही एजेंसी लेगी| इन तीन संस्थाओं में लगभग ढाई करोड़ विद्यार्थी भाग लेते हैं|

राष्ट्रीय भर्ती नीति 2020

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि रेलवे, बैंकिंग और SSC की प्राथमिक परीक्षा के लिए अलग-अलग परीक्षा देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इन तीनों के लिए एक एजेंसी बनाई जाएगी। एक ही आवेदन, एक ही शुल्क, एक ही परीक्षा होगी। इस परीक्षा का स्कोर तीन साल के लिए मान्य होगा। अभी तक केवल दो भाषाओं में ही परीक्षा देने की इजाजत थी, लेकिन इसके जरिए परीक्षार्थी 12 भाषाओं में परीक्षा दे सकता है।

उन्होंने कहा कि अभी नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी केवल तीन संस्थाओं के लिए परीक्षा लेगी, लेकिन भविष्य में सभी केंद्रीय संस्थाओं की परीक्षा यही एजेंसी लेगी। इन तीन संस्थाओं में लगभग ढाई करोड़ विद्यार्थी भाग लेते हैं।

सरकार के सचिव सी। चंद्रमौली ने कहा कि केंद्रीय सरकार में लगभग 20 से अधिक भर्ती एजेंसियां ​​हैं। अभी हम केवल तीन एजेंसियों की परीक्षा कॉमन कर रहे हैं, समय के साथ हम सभी भर्ती एजेंसियों के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट करेंगे। 

Common Eligibility Test for Govt Jobs

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। अब केंद्र सरकार की सरकारी नौकरियों के लिए एक ही टेस्‍ट होगा।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि सरकारी नौकरी के लिए युवाओं को बहुत से टेस्ट देने होते हैं।

लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। सरकार ने राष्ट्रीय भर्ती नीति को मंजूरी दे दी है जिससे देश के करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा।

आपको बता दें कि इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है. इसके तहत साल में दो बार टेस्ट होगा और एक हजार टेस्ट सेंटर बनाए जाएंगे. ये सेंटर जिला हेडक्वार्टर में बनाए जाएंगे. उम्र में छूट नहीं मिलेगी. फीस कंसेशन पहले जैसे ही रहेंगे

इसके तहत परीक्षाएं 12 भाषाओं में होगी. नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का हेडक्वार्टर दिल्ली होगा

एक परीक्षा से छात्रों का पैसा भी बचेगा उनको बहुत दौड़ धूप नहीं करनी होगी

नौकरी के लिए युवाओं को बहुत परीक्षाएं देनी पड़ती हैं. 20 भर्ती एजेंसियां हैं

, ऐसे में हर एजेंसी के लिए परीक्षा देने के लिए कई जगह जाना पड़ता है

अब नेशनल रिक्रूटमेंट एंजेसी टेस्ट लेगी. इससे करोड़ों युवाओं को लाभ मिलेगा

उन्हें दौड़ धूप नहीं करनी होगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *