मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना महाराष्ट्र

महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना|मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना महाराष्ट्र|मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना|

महाराष्ट्र के प्यारे वासियों महाराष्ट्र सरकार ने एक नई योजना की पहल की है इस योजना का नाम मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना रखा गया है|महाराष्ट्र सरकार अगले तीन वर्ष में राज्य भर के किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर फीडर्स की सहायता से सस्ती और विश्वसनीय बिजली उपलब्ध कराएगी। रालेगण सिद्धि में मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना के अंतर्गत पहली सौर परियोजना का भूमिपूजन करने के बाद मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस ने यह जानकारी दी। हमारे संवाददाता ने बताया है कि इस समारोह में प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हजारे भी उपस्थित थे।

ऊर्जा वाले फीडर का उपयोग करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है, जिससे बिजली क्षेत्र में महाराष्ट्र को आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस ने कहा कि वर्तमान में बिजली की प्रत्येक इकाई छह दशमलव पांच शून्य रुपये के आस पास उत्पन्न होती है और सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होने पर लागत तीन से तीन दशमलव दो पांच रुपये तक घट जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों को एक दशमलव दो शून्य रुपये में बिजली प्रदान की जाएगी।

महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना

महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सोलर फीडर के माध्यम से अगले तीन साल में राज्य के कोने-कोने के किसानों को बिजली उपलब्ध कराई जाएगी। इससे आगामी समय में किसानों को सस्ती और भरपूर बिजली मिल सकेगी। यह विश्वास राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने व्यक्त किया है। वे अहमदनगर जिले के रालेगणसिद्धी में आयोजित मुख्यमंत्री सौर कृषि वाहिनी परियोजना के भूमिपूजन और ग्रामरक्षक दलों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए सरपंच मेले में बोल रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ समाजसेवक अण्णा हजारे ने की।

महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना सीएम ने कहा कि बिजली क्षेत्र को आत्मनिर्भर बनाने के दृष्टिकोण से सोलर द्वारा निर्मित बिजली को फीडर से जोडऩे का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। शुरुआत में किसानों को सौर पंप देने की योजना थी, लेकिन सौर पंप वितरित करने की सीमा था। यह ध्यान में रखते हुए किसानों को दिन भर 12 घंटे बिजली देने के लिए कृषि पंपों को बिजली आपूर्ति करने वाले फीडर सोलर पैनल से जोडऩे का निर्णय लिया गया।

Saur Krishi Pump Scheme 2022 Highlights

योजना का नाम महाराष्ट्र मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना
इनेक द्वारा शुरू किया गया महाराष्ट्र सरकार
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को सोलर पंप उपलब्ध कराना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट https://www.mahadiscom.in/solar/index.html#

महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना जरूरी बातें

राज्य सरकार अप्रैल 2018 में मुख्य मंत्री सौर कृषि वाहिनी योजना का उद्घाटन करेगी।

सरकार 200 किसानों के एक समूह को 1 मेगावाट सौर ऊर्जा प्रदान करेगी।

सरकार 4,000 किसानों के एक समूह को 20 मेगावाट सौर ऊर्जा प्रदान करेगी।
हाल ही में सरकार ने सोलापुर और लातूर जिले में सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) आधार पर सौर ऊर्जा उत्पादन परियोजनाएं निष्पादित की हैं।

सौर ऊर्जा पैनलों की स्थापना के लिए किसानों से 15 वर्ष की अवधि के लिए किसानों से किराए पर कृषि भूमि खरीदने की भी योजना बना रही है।

महाराष्ट्र सरकार ने इस योजना के लिए निविदा प्रक्रिया पूरी कर ली है।

यदि योजना सफल हो जाएगी तो किसानो को सबसे सस्ती दर से बिजली मिलेगी है।

सौर पैनलों को इनपुट लागत को कम करने और किसानों के पैसे की बचत सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी।

बचाया पैसा किसानों के विकास के लिए बिजली पैदा करने में इस्तेमाल किया जाएगा।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को 12 घंटे बिजली की आपूर्ति उपलब्ध करना है।

राज्य जल संसाधन मंत्री ने कहा कि सौर ऊर्जा क्षेत्र के आजीविका में बढ़ोतरी करेंगे

राज्य की पहली सौर कृषि फीडर परियोजनाएं स्थापित करने के लिए रालेगण-सिद्धी आदर्श विकल्प हैं।

इसकी शुरुआत ग्राम विकास के क्षेत्र में मानदंड का निर्माण करने वाले वरिष्ठ समाजसेवक अण्णा हजारे के गांव रालेगणसिद्धी हो रही है। यह दिन ऐतिहासिक दिवस के रूप में याद किया जाएगा।

फडऩवीस ने कहा कि सौर पैनल द्वारा सभी फीडर जोडऩे से किसानों को दिन भर में 12 घंटे सस्ती बिजली मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि फिलहाल बिजली की एक यूनिट बनाने का खर्च साधारणतय: साढ़े छह रुपए पड़ता है। सौर ऊर्जा से बनी बिजली का प्रति यूनिट खर्च तीन से सवा तीन रुपए पड़ती है। ऐसे में प्रति यूनिट बिजली निर्माण खर्च से बचने वाला पैसा किसानों के विकास में उपयोग लाया जाएगा।

सौर ऊर्जा परियोजना के संदर्भ में प्रजेन्टेशन नीति आयोग ने मंगाया है, ऐसे में अन्य राज्यों को इस तरह की परियोजना शुरू करने को कहा गया है। यह देश के लिए पथदर्शी परियोजना होगी। उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है, जहां रालेगणसिद्धी सेे ग्राम विकास की प्रेरणा संपूर्ण देश को मिली, वहां आज दो महत्व की योजनाओं का शुभारंभ हो रहा है।

मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना 2022 का उद्देश्य

जैसे की आप लोग जानते है कि आज भी बहुत किसान है जो अपने खेतो में डीजल और बिजली पंप से सिचाई करते है जिसमे उनका बहुत खर्च होता है क्योकि डीजल पंप बहुत मेहगे  मिलते है । इस समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू किया है महाराष्ट्र मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना 2022 के अंतर्गत राज्य के किसानो को अपने खेतो में सिचाई करने के लिए सोलर पंप राज्य सरकार उपलब्ध कराये जायेगे । सौर पंप योजना के तहत, राज्य सरकार पंप की कीमत का 95% अनुदान प्रदान करती है। लाभार्थी द्वारा 5% ही किया भुगतान जायेगा। Maharashtra Solar Pump Yojana 2022 के ज़रिये सोलर पंप प्राप्त करके किसानो की आय में भी वृद्धि होगी और उन्हें बाज़ारो से अधिक कीमत पर पंप नहीं खरीदने पड़ेंगे । इन सोलर पंप के होने से पर्यावरण प्रदूषण भी नहीं होगा ।

अटल सौर कृषि पंप योजना 2022 की पात्रता

  • इस योजना के अंतर्गत पानी के सुनिश्चित स्रोत वाले खेत वाले किसान पात्र हैं। हालांकि, पारंपरिक बिजली कनेक्शन वाले किसानों को इस योजना से सोलर एजी पंप का लाभ नहीं मिलेगा।
  • क्षेत्र के किसान जो ऊर्जा के पारंपरिक स्रोत (यानी MSEDCL द्वारा) का विद्युतीकरण नहीं करते हैं।
  • दूरस्थ और जनजातीय क्षेत्र के किसान
  • वन विभाग से एनओसी के कारण अभी तक विद्युतीकृत नहीं होने वाले गांवों के किसान।
  • एजी पंप के लिए नए बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन करने वाले आवेदकों की लंबित सूची।
  • 5 एकड़ तक 3 एचपी डीसी और 5 एकड़ से अधिक 5 एचपी डीसी पंपिंग सिस्टम चयनित लाभार्थियों के खेत में तैनात किया जाएगा।
  • जल स्रोत नदी, नाला, स्वयं और सामान्य खेत तालाब और खोदे गए कुएँ आदि हैं।

महाराष्ट्र सौर कृषी पंप योजना 2022 के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत के कागज़ात
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

महाराष्ट्र मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना 2022 में आवेदन कैसे करे ?

राज्य के जो  इच्छुक लाभार्थी Maharashtra Solar Pump Yojana 2022 के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे ।

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा ।ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज खुल जायेगा ।
मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना
  • इस होम पेज पर आपको Beneficiary Services का ऑप्शन दिखाई देगा । ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको New Consumer के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा ।
Mukhyamantri Saur Krishi Pump Yojana
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा । इस एप्लीकेशन फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे Paid Pending AG Connection Consumer Details , Details of Applicant and Location , Nearest MSEDCL Consumer Number(where pump is to be installed) ,  Details of Applicant Residential Address & Location ,  आदि भरनी होगी ।इसके बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों को अपलोड करना होगा ।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट एप्लीकेशन के बटन पर क्लिक करना होगा ।इस तरह आपको आवेदन पूरा हो जायेगा ।

महाराष्ट्र मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना 2022 आवेदन की स्थिति की जांच कैसे करे ?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा ।ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको Beneficiary Services का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करके Track Application Status के विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
मुख्यमंत्री सौर कृषी पंप योजना
  • इसके बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा ।इस पेज पर आपको एप्लीकेशन स्टेटस देखने के लिए बेनेफिशरी आईडी डालकर सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • सर्च के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके समाने एप्लीकेशन स्टेटस आ जायेगा ।

दोस्तों आपको  महाराष्ट्र मुखमंत्री कृषि सौर फीडर योजना किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं

7 thoughts on “मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना महाराष्ट्र”

  1. हि योजना सर्व शेतकऱ्यासाठी मस्त आहे या योजनेचा सर्वांनी लाभ घेतला पाहीजे :,-) जय महाराष्ट्र

    Reply

Leave a Comment