मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन”mera pani meri virasat

Capture-39.png

mera pani meri virasat portal|mera pani meri virasat registration| हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना|मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन|Mera Pani Meri Virasat Yojana|

प्यारे दोस्तों आज आज हम अपने इस आर्टिकल मै मेरा पानी मेरी विरासत योजना जानकारी देने जा रहे हैं| हम आपको बताएंगे मेरा पानी मेरी विरासत योजना क्या है| हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने mera pani meri virasat portal शुभारंभ किया है|हरियाणा में किसान गेहूं खरीद से लेकर उसके भुगतान और भूजल बचाने के लिए लाई गई मेरा पानी मेरी विरासत योजना को लेकर आए हैं|  किसान धान की खेती छोड़ने पर प्रति एकड़ 7 हजार रुपये की मदद को नाकाफी बता रहे हैं|

सरकार ने मेरा पानी मेरी विरासत योजना को इसलिए लागू किया है, ताकि पानी की बचत हो सके। गिरते भू-जल स्तर को देखते हुए फैसला लिया है कि जो किसान पंचायत की जमीन पर धान की फसल नहीं लगाएगा उसे सरकार की तरफ से सात हजार रुपये प्रति एकड़ की राशि दी जाएगी। यह राशि सरपंचों के खाते में डाली जाएगी। धान की खेती कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र व अंबाला व जींद के कुछ क्षेत्र में की जाती है। किसान धान की खेती न करके दूसरी फसलें खेतों में लगा सकते हैं।

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना

हरियाणा सरकार वर्तमान सीजन में धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई करने वाले किसानों को 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि देगी।मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के किसानों से अपील की है।हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने यह भी जानकारी दी कि मेरा पानी-मेरी विरासत योजना के प्रचार के लिए जल्द ही वेब पोर्टल बनाया जाएगा जिस पर किसान अपनी समस्याओं का निदान पाने के लिए आवाज उठा सकेंगे। 

Haryana Mera Pani Meri Virasat Highlights

योजना का नाम मेरा पानी मेरी विरासत योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को प्रोत्साहन धनराशि प्रदान करना

मेरी विरासत योजना की विशेषताएं

  • हरियाणा सरकार की मेरा पानी मेरी विरासत योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य जैसे कि नाम से ही समझ आ रहा हैं जल का संरक्षण करना है|
  • इस योजना के तहत पानी की बचत कर आने वाली पीढ़ियों के लिए विरासत के रूप में उन्हें ऐसी भूमि उपलब्ध कराई जाएगी जोकि उनके लिए उपयोगी हो सकेगी|
  • ऐसे किसान जोकि पानी के लिए धान की फसलों को छोड़कर अन्य फसलों पर स्विच करते है तो उन्हें प्रोत्साहित किया जायेगा|
  • प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रत्येक ऐसे किसानों को जो धान की खेती को छोड़कर अन्य खेती करते हैं उन्हें सरकार की ओर से 7000 रूपये प्रति एकड़ मिलेंगे|
  • पको बता दें कि धान की खेती में अधिक पानी की आवश्यकता होती हैं. ऐसे में यदि इसके स्थान पर मक्का, अरहर, उड़द, ज्वार, कपास, बाजरा, तिल और ग्रीष्म मूंग या वैसाखी मूंग की खेती की जाएँ, तो इनमें पानी का खर्च कम होगा|

Mera Pani Meri Virasat Scheme Haryana के लाभ

    • इस योजना का लाभ हरियाणा के किसान भाई उठा सकते है |
    • मक्का और दलहन की खेती में आवश्यक बुवाई आदि फार्म मशीनरी उपलब्ध कराने के साथ माइक्रो-इरीगेशन और ड्रिप इरीगेशन के लिए 80 फीसदी सब्सिडी भी भी  जाएगी |
    • इस योजना के तहत मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास और सब्जी की खेती की जाएग | इन फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी।
    • इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा प्रत्साहन धनराशि प्राप्त करने के लिए किसानो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा | 

हरियाणा परिवार समृद्धि योजना

मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

  • सर्वप्रथम आवेदक को कृषि विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा | ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
मेरा पानी मेरी विरासत योजना
  • इस होम पेज पर आपको किसान पंजीकरण करे का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा | ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा |
मेरा पानी मेरी विरासत योजना
  • इस पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन दिखाई देगा आपको इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे वित्तीय वर्ष , योजना जिला , ब्लॉक , किसान का नाम , पिता या पति का नाम , माता का नाम मोबाइल नंबर आदि भरनी होगी |
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा | इस तरह आपको आवेदन  पूरा हो जायेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top