खाद्य सुरक्षा मित्र योजना 2020|Khadya Suraksha Mitra Yojana 2020

pradhan mantri yojana

खाद्य सुरक्षा मित्र योजना|Khadya Suraksha Mitra Yojana|Eat Right Jacket and Eat Right Jhola|’ईट राइट जैकेट’ ईट राइट झोला’|प्रधानमंत्री खाद्य सुरक्षा मित्र योजना|food safety mitra yojana

दोस्तों आज हम अपने आर्टिकल में खाद्य सुरक्षा मित्र योजना 2020 की जानकारी लेकर आया हूं|केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने ‘ईट राइट जैकेट’ और ‘ईट राइट झोला’ के साथ-साथ ‘खाद्य सुरक्षा मित्र (एफएसएम)’ योजना का भी शुभारंभ किया, ताकि खाद्य सुरक्षा  व्‍यवस्‍था को मजबूत किया जा सके और इसके साथ ही ‘ईट राइट इंडिया’ अभियान को व्‍यापक बनाया जा सके।खाद्य सुरक्षा मित्र योजना, ईट राइट इंडिया-फिट इंडिया मूवमेंट अभियान से फूड बिज़नेस करना हुआ आसान, शामिल होंगे डिजिटल मित्र,ट्रेनर मित्र,स्वच्छता मित्र 25 लाख से ऊपर एफ़बीओ को लाइसेंस आसानी से मिलेंगे.|

खाद्य सुरक्षा मित्र योजनाEat Right Jacket and Eat Right Jhola का शुभारंभ किया है। खाद्य सुरक्षा मित्र (FSM) योजना, फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने शुरू की है जिसके माध्यम से जागरूक लोगों को ज़मीनी स्तर पर खाद्य सुरक्षा तंत्र में शामिल करने की योजना है। खाद्य सुरक्षा मित्र योजना  लघु और मध्यम स्तर के खाद्य व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा कानूनों का पालन करने में मददगार होगी। लाइसेंसिंग और पंजीकरण, हाइजीन की रेटिंग और प्रशिक्षण में भी सहायक होगी।

खाद्य सुरक्षा मित्र योजना  लघु और मध्यम स्तर के खाद्य व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा कानूनों का पालन करने में मददगार होगी। लाइसेंसिंग और पंजीकरण, हाइजीन की रेटिंग और प्रशिक्षण में भी सहायक होगी।खाद्य सुरक्षा मित्र योजना लघु और मध्यम स्तर के खाद्य व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा कानूनों का पालन करने में मददगार होगी। लाइसेंसिंग और पंजीकरण, हाइजीन की रेटिंग और प्रशिक्षण में भी सहायक होगी।

खाद्य सुरक्षा मित्र योजना

खाद्य सुरक्षा मित्र’ योजना छोटे एवं मझोले खाद्य व्‍यवसायियों के लिए खाद्य सुरक्षा कानूनों का पालन करने और लाइसेंस एवं पंजीकरण, स्वच्छता रेटिंग तथा प्रशिक्षण को सुविधाजनक बनाने में मददगार साबित होगी। खाद्य सुरक्षा को मजबूत करने के अलावा यह योजना विशेषकर खाद्य एवं पोषण से जुड़ी पृष्‍ठभूमि वाले युवाओं के लिए नये रोजगार अवसर भी सृजित करेगी। खाद्य सुरक्षा मित्रों (एफएसएम) को एफएसएसएआई द्वारा प्रशिक्षण एवं प्रमाण-पत्र दिये जाएंगे, ताकि वे संबंधित कार्य कर सकें|

ईट राइट जैकेट’ का आज शुभारंभ किया गया, जिसका उपयोग विभिन्‍न क्षेत्रों में काम करने वाले कर्मियों (फील्‍ड स्‍टाफ) द्वारा किया जाएगा। यह स्‍मार्ट डिजाइन वाली जैकेट है, जिसमें अनेक तकनीकी उपकरण जैसे कि टैबलेट/स्‍मार्ट फोन, क्‍यूआर कोड और पहचान करने एवं नजर रखने के लिए आरएफआईडी टैग लगाये जा सकते हैं। इससे जहां एक ओर विभिन्‍न क्षेत्रों में काम कर रहे फील्‍ड स्‍टाफ की सुरक्षा सुनिश्चित होगी, वहीं दूसरी ओर इससे खाद्य सुरक्षा व्‍यवस्‍था में पारदर्शिता, प्रोफेशनल रुख एवं पारदर्शिता सुनिश्चित की जा सकेगी तथा इसके साथ ही स्‍वामित्‍व की भावना आएगी एवं एफएसओ को उन पर नजर रखने में सुविधा होगी।

ईट राइट जैकेट ईट राइट झोला मुख्य उद्देश्य

ईट राइट मूवमेंट और फिट इंडिया अभियान के अंतर्गत शुरू की गई केंद्र सरकार की इस खाद्य सुरक्षा मित्र योजना 2019 में मुख्‍य आर्थिक सलाहकार डॉक्‍टर कृष्‍णमूर्ति सुब्रह्मण्यम ने लोगों से अन्न बर्बाद करने की बजाय गरीबों और भूखे लोगों को खिलाने की भी अपील करी। भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण ने इस योजना को जमीनी स्‍तर पर व्‍यक्तिगत तौर से लोगों को प्रेरित करने के लिए लागू किया है।

सरकार का अनुमान है की खाद्य सुरक्षा मित्र लगभग 25 लाख से अधिक एफबीओ को लाइसेंस, पंजीकरण, स्वच्छता रेटिंग और प्रशिक्षण जैसी सेवाएं प्रदान कर सकेंगे।यह स्‍मार्ट डिजाइन वाली जैकेट है, जिसमें अनेक तकनीकी उपकरण जैसे कि टैबलेट/स्‍मार्ट फोन, क्‍यूआर कोड और पहचान करने एवं नजर रखने के लिए आरएफआईडी टैग लगाये जा सकते हैं।

खाद्य सुरक्षा मित्र FSSAI द्वारा प्रमाणित पेशेवर है, जो अपनी प्रासंगिक भूमिकाओं और ज़िम्मेदारियों के आधार पर तीन अवतारों- डिजिटल मित्र, ट्रेनर मित्र और स्वच्छता मित्र के साथ FSS अधिनियम, नियमों और विनियमों से संबंधित अनुपालन में सहायता करता है। 

इस कार्यक्रम में, मंत्री ने पुनः इस्तेमाल में आने वाले, धोए जा सकने और पर्यावरण अनुकूल ईट राइट झोलों की भी शुरुआत की है। इस अवसर पर FSSAI के कर्मचारियों के लिए ईट राइट स्मार्ट जैकेट की भी शुरुआत की गई है जिसमें RFID टैग और QR कोड लगा हुआ|

इससे जहां एक ओर विभिन्‍न क्षेत्रों में काम कर रहे फील्‍ड स्‍टाफ की सुरक्षा सुनिश्चित होगी, वहीं दूसरी ओर इससे खाद्य सुरक्षा व्‍यवस्‍था में पारदर्शिता, प्रोफेशनल रुख एवं पारदर्शिता सुनिश्चित की जा सकेगी तथा इसके साथ ही स्‍वामित्‍व की भावना आएगी एवं एफएसओ को उन पर नजर रखने में सुविधा होगी।

ईट राइट झोला’ दरअसल कपड़े का एक ऐसा थैला है, जिसे फिर से उपयोग में लाया जा सकता है, अत: यह खुदरा किराना दुकानों में खरीदारी करते वक्‍त प्‍लास्टिक की थैलियों का स्‍थान बड़ी आसानी से ले सकेगा।

food safety mitra yojana योजना के लाभ

 योजना के कई लाभ  हैं जो खाद्य मित्र को प्रदान किए जाएंगे जो कि योजना के तहत खुद को पंजीकृत करने वाले लोग हैं: –

  • सबसे पहले और भोजन मितरों को एक नियोक्ता के रूप में खुद को विकसित करने का अवसर मिलेगा।
  • साथ ही खाद्य पदार्थ सरकारी कर्मचारियों को दिए जाने वाले भत्तों का आनंद ले सकेंगे।
  • वे मुख्य लाभ का आनंद लेने में सक्षम होंगे जो वे भोजन की शुद्धता की जांच करने और उस समुदाय की मदद करने में सक्षम होंगे जो वे काम कर रहे हैं।
  • खाद्य मित्राों के अलावा पूरी योजना यानी खाद्य मित्र योजना भोजन की शुद्धता में मदद करेगी।
  • जैसा कि भोजन से ऊपर बताया गया है, मित्रा योजना बेरोजगार लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में सक्षम होगी।

योजना के तहत नौकरी के प्रकार

जैसा कि खाद्य सुरक्षा मित्र योजना के आधिकारिक विवरणिका में बताया गया है कि भोजन मित्र के लिए तीन प्रकार के प्रशिक्षण हैं: –

  • डिजिटल मित्रा
  • ट्रेनर मित्र
  • स्वच्छता मित्र

खाद्य सुरक्षा मित्र के लिए पात्रता मानदंड

उपर्युक्त नौकरियों के लिए कुछ पात्रता मानदंड को अंतिम रूप दिया गया है –

 “रंग: नीला;”> डिजिटल मित्र के लिए

  • आवेदक की आयु 21 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक ने किसी मान्यता प्राप्त स्कूल और मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 + 2 पूरी की हो।
  • आवेदक को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी पाठ्यक्रम में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • आवेदक को बुनियादी कंप्यूटर और इंटरनेट का ज्ञान होना चाहिए।

ट्रेनर मित्र के लिए

  • आवेदक को निम्नलिखित विषयों में स्नातक होना चाहिए – खाद्य विज्ञान / जीव विज्ञान / रसायन विज्ञान / सूक्ष्म जीव विज्ञान / खाद्य स्वच्छता / गृह विज्ञान आदि।
  • उपर्युक्त विषय से स्नातक नहीं होने पर आवेदक को निर्धारित नौकरी में 5 या 7 साल का अनुभव होना चाहिए।
  • इसके अलावा, आवेदक को संबंधित खाद्य सुरक्षा उद्योग के तहत खाद्य सुरक्षा या स्वच्छता के तहत 5 या 7 साल का अनुभव होना चाहिए।
  • आवेदक को एफएसएस नियमों और विनियमों का ज्ञान होना चाहिए।
  • आवेदक को वर्ष में कम से कम 20 दिन प्रशिक्षण लेना चाहिए।
  • अंतिम और कम से कम आवेदक के पास अच्छा संचार कौशल होना चाहिए।

स्वच्छता मित्र के लिए

  • आवेदक की आयु 21 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक को निम्नलिखित विषयों में स्नातक होना चाहिए – होटल प्रबंधन / खानपान / खाद्य विज्ञान / सूक्ष्म जीव विज्ञान / डायरी / तेल प्रौद्योगिकी आदि।
  • आवेदक को एफएसएस नियमों और विनियमों का ज्ञान होना चाहिए।

प्रशिक्षण के लिए आवेदन शुल्क

सेवाएं फीस
पंजीकरण फॉर्म भरना 100 / – रु।
अनुज्ञप्ति आवेदन भरना 500 / – रु।
प्रशिक्षण मित्र के लिए 15 से कम कर्मचारियों वाले FBO के लिए रु। 2000 / -, 15 कर्मचारियों से अधिक FBO के लिए 5000 / – रु
स्वच्छता मित्र के लिए 15 से कम कर्मचारियों वाले FBO के लिए रु। 2000 / -, 15 कर्मचारियों से अधिक FBO के लिए 5000 / – रु

खाद्य सुरक्षा मित्र योजना 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन food safety mitra yojana online apply

खाद्य सुरक्षा मित्र योजना आवेदन पत्र
  • आपको स्वचालित रूप से पंजीकरण पृष्ठ पर भेज दिया जाएगा।
  • पंजीकरण पृष्ठ में पूछे गए सभी विवरण जैसे – नाम, पिता का नाम, पता, शैक्षिक योग्यता आदि भरें।
  • सबसे पहले सभी लॉगिन विवरण  जैसे – आपका नाम, पासवर्ड आदि का उल्लेख करें 
  • दूसरे, एफएसएम के सभी विवरण भरें   जैसे कि आप जिस नौकरी के लिए आवेदन कर रहे हैं।
  • फिर शैक्षिक विवरण भरें  ।
  • अंत में  प्रशिक्षण और अनुभव का विवरण।
  • सभी नियमों और शर्तों को ध्यान से पढ़ें।
  • I Agree पर क्लिक करें 
  • रजिस्टर पर क्लिक करें 
  • सफल पंजीकरण के बाद भविष्य के उपयोग के लिए आवेदन पत्र का प्रिंट आउट लेता है।

1 thought on “खाद्य सुरक्षा मित्र योजना 2020|Khadya Suraksha Mitra Yojana 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *