झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना|Jharkhand Shramik Rojgar Yojana

झारखण्ड  श्रमिक रोजगार योजना|झारखण्ड शहरी श्रमिक रोजगार योजना|झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना|Jharkhand Shramik Rojgar Yojana|Jharkhand Mukhyamantri Shramik Rojgar Yojana |

प्यारे दोस्तों आज हम अपने इस आर्टिकल में झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना की जानकारी लेकर आए हैं| हम आपको बताएंगे कि झारखंड शहरी श्रमिक रोजगार योजना 2020 क्या है|आप किस प्रकार झारखंड श्रमिक योजना का लाभ उठा सकते हैं| झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रोजगार योजना की शुरुआत की है|हेमंत सोरेन सरकार ‘मुख्यमंत्री श्रमिक (शहरी रोजगार मंजूरी फॉर कामगार) योजना के तहत लोगों को महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना की तरह कम से कम 100 दिन के रोजगार की गारंटी दी जाएगी|

नगर विकास एवं आवास विभाग ने इस योजना को लागू करने की दिशा में काम भी शुरू कर दिया है|इस योजना के तहत झारखण्ड के शहरी प्रवासी मजदूरों को रोजगार के लिए मनरेगा की तरह ही जॉब कार्ड प्रदान किया जायेगा।इस Jharkhand Mukhyamantri Shramik Rojgar Yojana के अंतर्गत  शहरी क्षेत्र में रहने वाले अकुशल प्रवासी मजदूर को रोजगार प्रदना किया जायेगा|

  ताकि वे अपनी आजीविका अच्छे से चला सके और  श्रमिकों को रोजगार के लिए दुसरे प्रदेश न जाना पड़ें, उन्हें अपने वार्ड क्षेत्र में ही आसानी से काम मिल जाये। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना के तहत आवेदन करना होगा|

झारखण्ड श्रमिक रोजगार योजना

अगर किसी आवेदक कामगार को आवेदन के 15 दिन के अंदर काम नहीं मिल पाया, तो वह बेरोजगारी भत्ते का हकदार होगा| यह भत्ता पहले माह न्यूनतम मजदूरी का एक चौथाई, दूसरे माह न्यूनतम मजदूरी का आधा और तीसरे माह से न्यूनतम मजदूरी के बराबर दिया जाएगा|

Jharkhand Shramik Rojgar Yojana Highlights

योजना का नाम झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
लाभार्थी प्रवासी मजदूर
उद्देश्य रोजगार के अवसर प्रदान करना

झारखण्ड शहरी श्रमिक रोजगार योजना के लिए पात्रता

मुख्यमंत्री शहरी रोजगार मंजूरी फॉर कामगार योजना के तहत झारखंड के शहरों में रहने वाले 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के अकुशल श्रमिकों को एक वित्त वर्ष में 100 दिनों के रोजगार की गारंटी मिलेगी|

इस योजना का लाभ झारखण्ड के शहरी क्षेत्रो में  वापस आये प्रवासी मजदूरों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराया जायेगा।

आवेदक झारखण्ड का स्थायी निवासी होना चाहिए। वह 1 अप्रैल 2015 से शहरी क्षेत्रों में रहना चाहिए।

अगर श्रमिक के पास पहले से मनरेगा जॉब कार्ड है तो उसे इस मुख्यमंत्री शहरी श्रमिक रोजगार योजना का लाभ नहीं मिलेगा|

मुख्यमंत्री शहरी श्रमिक रोजगार योजना दस्तावेज 

  • बैंक पासबुक जानकारी
  • आधार कार्ड
  • उम्र की जानकारी का प्रूफ
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र

झारखंड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन

झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना 2020 में अगर आप रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं तो आपको थोड़ा इंतजार करना होगा|

झारखण्ड सरकार द्वारा झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना को शुरू करने की घोषणा की है

झारखण्ड सरकार मुख्यमंत्री शहरी श्रमिक रोजगार योजना के लिए एक सरकारी पोर्टल लांच करेगी|

जिसमें सभी योग्य श्रमिक आवेदन कर सकेंगें, और पंजीयन के पश्चात् उन्हें जॉब कार्ड दिया जायेगा|

 प्रक्रिया के शुरू होने के बाद हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बता देंगे उसके बाद सभी शहरी प्रवासी मजदूर Shramik Rojgar Yojana में ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *