पीएम जनता कर्फ्यू|कोरोना वायरस के चलते जनता कर्फ्यू

pradhan mantri yojana

प्यारे दोस्तों आज हम अपनी इस आर्टिकल में जनता कर्फ्यू की जानकारी देने जा रहे हैं| मोदी जी कोरोना वायरस के चलते जनता कर्फ्यू घोषणा की है|पीएम ने कहा कि आने वाले 22 मार्च को देश के लोग ‘जनता कर्फ्यू’ लगाएं। उन्होंने कहा कि 22 तारीख को वे सुबह 7 बजे से लेकर रात 10 बजे तक घर से ना निकलें। पीएम मोदी ने कहा कि बुजुर्ग लोग खासकर इस स्थिति में न निकलें। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में जब इस बीमारी के कोई उपाय नहीं सुझाए और ना दवा बनाई तो इस स्थिति में खुद का बचाव जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने जनता कर्फ्यू लोगों को सहयोग देने के लिए कहा है|

पीएम ने कहा कि ‘ये संकट ऐसा है, जिसने विश्व भर में पूरी मानवजाति को संकट में डाल दिया है।’ उन्‍होंने कहा कि 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया है, आवश्यक सावधानियां बरती हैं। लेकिन, बीते कुछ दिनों से ऐसा भी लग रहा है जैसे हम संकट से बचे हुए हैं, सब कुछ ठीक है। वैश्विक महामारी कोरोना से निश्चिंत हो जाने की ये सोच सही नहीं है। पीएम ने लोगों से अपील की कि वे ‘जनता कर्फ्यू’ लगाएं। ये क्‍या है और आम जनता इसे कैसे लागू करेगी, पीएम ने इसके बारे में भी बताया।

कोरोना वायरस जनता कर्फ्यू|janta curfew in hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खतरे और सरकार की उससे निपटने की कोशिशों को लेकर राष्‍ट्र को संबोधित किया। पीएम ने कहा क‍ि वैश्विक महामारी कोरोना से निश्चिंत हो जाने की सोच सही नहीं है। मोदी जी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि से हमें एक साथ बचने की जरूरत है|पीएम ने अस्‍पतालों पर दबाव का जिक्र करते हुए लोगों से कहा कि वे रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं, उतना बचें।

प्रधानमंत्री के अनुसार, ये ‘जनता कर्फ्यू’ कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत कितना तैयार है, ये देखने और परखने का भी समय है। उन्‍होंने कहा कि ये जनता कर्फ्यू एक प्रकार से भारत के लिए एक कसौटी की तरह होगा|

मोदी जनता कर्फ्यू की जरूरी बातें

पीएम मोदी ने कहा कि आज 130 भारतवासियों से कुछ मांगने आया हूं। मुझे आने वाला आगे का आपका कुछ समय चाहिए। विज्ञान कोरोना महामारी से बचने के लिए कुछ निश्चित उपाय नहीं सुझा सका है न ही कोई वैक्सीन बनी है।

इस महामारी से बचने के लिए आप अपने घरों में रहें| घर से बाहर बिना काम के लिए नहीं निकले| सरकार के साथ आम जनता को भी देना होगा|

आवश्यक नहीं हो ते रूटीन चेकअप के लिए नहीं निकलें। 

22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान नागरिक घर से बाहर नहीं निकलें। लोग अपने घरों में ही रहें। जरूरी हो तभी बाहर निकलें। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाएं।

 60 से 65 वर्षा से अधिक उम्र वाले व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलें। 

पीएम मोदी ने ऐलान किया वित्‍त मंत्री के नेतृत्‍व में कोविड-19 इकॉनमिक टास्‍क फोर्स बनाई जा रही है। ये टास्क फोर्स सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक मुश्किलों को कम करने के लिए जितने भी कदम उठाए जाएं, उन पर प्रभावी रूप से अमल हो।

पीएम मोदी ने कहा कि ये कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत कितना तैयार है, ये देखने और परखने का भी समय है। आपके इन प्रयासों के बीच, जनता-कर्फ्यू के दिन 22 मार्च को मैं आपसे एक और सहयोग चाहता हूं। इस रविवार, यानि 22 मार्च को, सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक, सभी देशवासियों को जनता-कर्फ्यू का पालन करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *