हमारा घर हमारा विद्यालय:मध्यप्रदेश|MP Hamara Ghar Hamara Vidyalaya

Capture-2.png

मध्य प्रदेश हमारा घर हमारा विद्यालय|हमारा घर हमारा विद्यालय|MP Hamara Ghar Hamara Vidyalaya|Hamara Ghar Hamara Vidyalaya  scheme|

आज हम आपके लिए मध्य प्रदेश हमारा घर हमारा विद्यालय जानकारी लेकर आए हैं| आज हम आपके लिए महाराजा महाराजा जानकारी लेकर आए हैं| हम आपको बताएंगे एमपी हमारा घर हमारा विद्यालय योजना क्या है|कोरोना संकट काल में विद्यार्थियों की शैक्षिक निरंतरता बनाए रखने के लिए राज्य शिक्ष केन्द्र और स्कूल शिक्षा विभाग ने ‘हमारा घर हमारा विद्यालय’ योजना तैयार की है।मध्यप्रदेश के हर घर में छह जुलाई से स्कूल की घंटी सुनाई देगी। इस दौरान बच्चे पढ़ेंगे, लिखेंगे कहानियां सुनेंगे और उनपर नोट्स तैयार करेंगे।

इस योजना के तहत आगामी 6 जुलाई से बच्चों घरों पर ही स्कूली वातावरण में अध्ययन की तैयारी की गई है।इस ऑनलाइन कार्यक्रम में सहभागी एक लाख से अधिक शिक्षकों और अन्य सहयोगियों को संबोधित करते हुए रश्मि अरुण ने कहा कि बच्चे हर अवसर से सीखते हैं। अगर बच्चा अपने पिता के साथ खेत में भी जाता है तो भी वह एक नया हुनर प्राप्त करता है और इस काम में दूरी और माप की गणितीय शिक्षा तथा पर्यावरण की शिक्षा प्राप्त करता है। हर कार्य उन्हें अनुभव प्रदान करता है।

मध्य प्रदेश हमारा घर हमारा विद्यालय

‘हमारा घर हमारा विद्यालय’ योजना ऐसी ही एक भावनात्मक पारिवारिक पहल है जो बच्चों को परिवार के सहयोग से घर पर ही पढ़ाई को सुचारु रखने में सहयोगी होगी। इस अवसर पर आयुक्त राज्य शिक्षा केन्द्र लोकेश कुमार जाटव ने बताया कि, ‘हमारा घर हमारा विद्यालय’ योजना प्रदेश के कक्षा 1 से 8 तक के विद्याथिर्यों के लिए बनाई गई है। विद्यार्थी अब अपने घर पर ही विद्यालय के वातावरण में पढ़ाई कर सकेंगे। 

MP Hamara Ghar Hamara Vidyalaya Highlights

योजना का नाम मध्य प्रदेश हमारा घर हमारा विद्यालय
इनके द्वारा शुरू की गयी मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 1 जुलाई 2020 को
लाभार्थी विद्यार्थी
उद्देश्य विद्यार्थियों की शैक्षिक निरंतरता

हमारा घर हमारा विद्यालय के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत, अब छात्रों के घर के अन्दर स्कूल की घंटी सुनाई देगी और शिक्षक घंटी के बाद छात्रों की कक्षा शुरू करेंगे.
  • यह योजना ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से अपने घर पर पढ़ाए जाने वाले बच्चों के लिए स्कूल जैसा माहौल प्रदान करेगी.
  • ये कक्षाएं हर विषय पर 1 घंटे की कक्षा के साथ सुबह 10.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक आयोजित की जाएंगी.
  • इस अभियान में कक्षा 1 से 8 के शिक्षकों के लिए विषय की तैयारी प्रदान की जाएगी.
  • इस योजना के तहत छात्रों की शिक्षा और अन्य गतिविधियों के लिए समय सारिणी स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा तैयार जाएगी.
  • छात्रों के पास सोमवार से शुक्रवार और शनिवार तक समय सारणी के अनुसार विषय की कक्षाएं होंगी. इसके अलावा छात्र योग, लेखन और कहानियों को सुनने आदि गतिविधियों में संग्लन रहेंगे.
  • इस योजना के तहत, शिक्षक छात्रों और अभिभावकों से फीडबैक लेने के लिए भी चर्चा करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top