गरीब कल्याण रोजगार अभियान|garib rojgar yojana|garib kalyan rojgar abhiyan|pm garib kalyan rojgar yojana|garib kalyan rojgar yojana 2022

आज हम आपके लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना की जानकारी लेकर आए हैं| हम आपको बताएंगे गरीब कल्याण रोजगार अभियान क्या है| आप किस प्रकार पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना का लाभ उठा सकते हैं|  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गरीब कल्याण रोजगार योजना 2022 की शुरुआत की है| गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए योजना को बनाया गया है| इस योजना बेरोजगार लोगों को रोजगार दिया जाएगा|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 50 हजार करोड़ रुपये की लागत वाली गरीब कल्याण रोजगार अभियान का  शुभारंभ किया।न्होंने देश के गांव और ग्रामीणों के प्रयासों की प्रशंसा की जो कोविड-19 से पूरे साहस के साथ सामना कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने प्रवासी मजदूरों से बात भी की और गरीबों को सरकार की ओर से मुफ्त राशन मिलने के बारे में चर्चा की। साथ ही उन्होंने मजदूरों को आज शुरू किए गए रोजगार अभियान के तहत मिलने वाले फायदों से अवगत कराया और कहा कि इसके जरिए प्रवासी श्रमिकों को सशक्त बनाने के लक्ष्य का विवरण दिया।

 के तहत सरकार इन प्रवासी मजदूरों को 25 तरह के काम के विकल्प उबलब्ध कराएगी। मिशन मोड में इस योजना के तहत 125 दिनों तक काम चलेगा। साथ ही इस योजना के लिए किसी तरह के आवेदन की प्रक्रिया नहीं होगी। राज्य और केंद्र सरकार इसके लिए मजदूरों का चयन स्वत करेगी।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना 2022

इस अभियान के अंतर्गत देश के ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूरों को अधिक लाभ प्रदान किया जायेगा। इस अभियान को 6 राज्यों के 116 जिलों में 125 दिनों तक प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में चलाया जाएगा।  हमारे देश की वित्तमंत्री सीतारमण का कहना है कि हम 125 दिनों के भीतर सरकार की लगभग 25 योजनाओं को 116 जिलों तक पहुंचाएंगे। इन सभी योजनाओं को सरकार ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के तहत साथ लाएगी।जो 125 दिन तक चलेगा और इसके तहत देश के 116 जिलों में हर जिले के 25,000 प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिया जाएगा।

मुख्य तथ्य गरीब रोजगार योजना 2022

अभियान का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान
इनके द्वारा घोषणा की गयी देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा
इनके द्वारा शुरू की जाएगी देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 
लॉन्च की तारीक 20 जून
लाभार्थी देश के प्रवासी मजदूर
उद्देश्य रोजगार के अवसर प्रदान करना

PM Garib Kalyan Yojana New Update

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कोरोनावायरस की वैश्विक महामारी के चलते केंद्र सरकार ने ईपीएफ अधिनियम 1952 के अंतर्गत सभी वर्गों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ देने की घोषणा की थी। इस योजना के अंतर्गत इपीएफ तथा ईपीएस योगदान का वाहन केंद्र सरकार करेगी। यदि आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको अपने एंपलॉयर्स की ईसीआर कर्मचारी भविष्य निधि कल्याण में जमा करने अनिवार्य है। इस योजना के अंतर्गत लगभग 1 लाख 80000 लोग लाभ उठा पाएंगे। इस योजना के अंतर्गत जून माह में 6 करोड 58 लाख तथा जुलाई माह में 5 करोड़ 60 लाख रुपए का लाभ पहुंचाया गया है।

Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana 3.0

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इस योजना के तहत प्रोत्साहन सहायता को आगे बढ़ाते हुए पीएम गरीब कल्याण योजना तीसरा फेज शुरू करने की तैयारी की जा रही है कोरोना वायरस के कारण आ रही आर्थिक रूप से परेशानी से निपटने के लिए इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा तीसरा प्रोत्साहन पैकेज लाने की तैयारी की जा रही है। रिपोर्ट्स के आधार पर इस योजना के तहत तीसरे प्रोत्साहन पैकेज में देश के गरीब लोगो को अगले साल मार्च तक फ्री में अनाज उपलब्ध कराया जायेगा । केंद्र सरकार सामाजिक सुरक्षा के लिए इस योजना की अवधि को बढ़ाने का प्लान बना रही है। इस योजना के अंतर्गत केश ट्रांसफर स्कीम को भी शामिल किया जा सकते है। रिपोर्ट के मुताबिक तीसरे प्रोत्साहन पैकेज में सरकार 20 करोड़ जन धन खातों और 3 करोड़ गरीब वृद्धजन ,विधवा ,विकलांग को केश ट्रांसफर की जा सकते है।

PMGKY 2. 0 में आवंटित और वितरित अनाज की संख्या

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि इस योजना के अंतर्गत देश के सभी गरीब राशन कार्ड धारको परिवारों सरकार द्वारा नवंबर तक 5 किलो गेहू या 5 किलो चावल मुफ्त में सरकार द्वारा मुहैया कराया जायेगा। तो आपको बता दे इन पांच महीनो के लिए सरकार द्वारा 201 लाख टन का अनाज आवंटित किया गया है और इनमे से राज्यों द्वारा 89.76 लाख टन अनाज उठाया तथा इस योजना के तहत राज्यों द्वारा गरीब लोगो को 60. 52 लाख टन अनाज वितरित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत जुलाई माह में लाभार्थियों को 35. 84 लाख टन अनाज दिया गया है और कुल लाभार्थियों को संख्या 71.68 करोड़ है। इसी तरह अगस्त माह में लाभार्थियों को 24.68 लाख टन अनाज वितरित किया गया है और कुल लाभार्थियों को संख्या 49.36 करोड़ है |

PMGKY 2. 0

प्रधानमंत्री गरीब रोजगार अभियान पात्रता

  • योजना का लाभ लेने के लिए आवदेक भारत  का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • उसके पास निवासी प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • रोजगार केवल 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को ही दिया जाएगा।

गरीब कल्याण रोजगार योजना मुख्य उद्देश्य

इसके तहत अलग-अलग गांव में कहीं गरीबों के लिए पक्के घर भी बनेंगे। कहीं शेड बनाए जाएंगे। कहीं जल-जीवन मिशन को आगे बढ़ाया जाएगा। कहीं जरूर है, सड़कों के निर्माण पर भी उतना ही जोर दिया जाएगा। जहां पंचायत भवन नहीं हैं, वहां पंचायत भवन भी बनाए जाएंगे। साथ-साथ इस अभियान से आधुनिक सुविधाओं से भी गांवों को जोड़ा जाएगा। गांव में सस्ता और तेज इंटरनेट होना जरूरी है, ताकि हमारे बच्चे पढ़ सकें। गांव में शहरों से ज्यादा इंटरनेट इंस्तेमाल हो रहा है। गांव में फाइबर केबल पहुंचे, इससे जुड़े काम भी होंगे। ये काम गांव के ही लोग करेंगे। आप लोग ही करेंगे।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना आवेदन कैसे करें

  • अगर आप भी इस योजना के तहत काम पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको गांव के सरपंच या मुखिया से मिलकर अपनी विशेषज्ञता बतानी होगी।
  • यह स्कीम उन लोगों के लिए है जो प्रवासी है और उनके पास रोजगार नहीं है।
  • मुखिया या सरपंच आपका नाम ब्लॉक ऑफिस भेजेंगे।
  • हालांकि, सरकार ने यह योजना लाने से पहले ही उन लोगों का पहले ही आंकलन कर लिया गया है।
  • रोजगार देने का काम राज्य सरकार के अधिकारी ही करेंगे। काम पाने वालों को अपने स्थानीय अधिकारियों के अलावा ब्लॉक और तहसील अधिकारियों से संपर्क करना होगा।

सवाल-जवाब में समझें, गरीब कल्याण रोजगार अभियान

क्या है गरीब कल्याण रोजगार अभियान का मकसद?
इसका मकसद कामगारों को उनकी रुचि और कौशल के तहत रोजगार और स्वरोजगार उपलब्ध कराना है।

कितने राज्यों के कितने जिले शामिल हैं?

6 राज्यों के 116 जिले। बिहार के 32, उत्तर प्रदेश के 31, मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22, ओडिशा के 4 और झारखंड के 3 जिले शामिल हैं। इनमें करीब 88 लाख प्रवासी मजदूर अन्य राज्यों से लौटे हैं।

बिहार से सबसे ज्यादा जिले शामिल करने की वजह?

बिहार में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव हैं। यहां जदयू-भाजपा गठबंधन की सरकार है।

योजना के तहत कितने दिन रोजगार मिलेगा?
गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत साल में 125 दिनों तक रोजगार मुहैया कराने की योजना है।

योजना के लिए कितना बजट रखा गया है?  
50 हजार करोड़ रुपए। कामगारों को योग्यता के हिसाब से 25 तरह के काम दिए जाएंगे। इनमें सड़क, ग्रामीण आवास, बागवानी, पौधारोपण, जल संरक्षण और सिंचाई, आंगनबाड़ी, पंचायत भवन और जल जीवन मिशन जैसे काम शामिल हैं।

12 thoughts on “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना|Garib Kalyan Rojgar Yojana”
  1. Main sabnam shaikh
    Mai prime minister narendr modi se apil karti hu ki kripya karke mera help kare lockdown ki wajah se mai bahut pareshan hu
    Kripya karke meri samjhe

Leave a Reply

Your email address will not be published.