http://www.yogiyojana.in/

[फॉर्म] स्त्री स्वाभिमान योजना|ऑनलाइन अप्लाई |stree swabhiman yojana apply online

pradhan mantri yojana

स्त्री स्वाभिमान योजना online|stree swabhiman yojana online form 2020|स्त्री स्वाभिमान योजना online|स्त्री स्वाभिमान योजना form|स्त्री स्वाभिमान योजना online form|स्त्री स्वाभिमान योजना 2020 form|स्त्री स्‍वाभिमान परियोजना|स्त्री स्वाभिमान प्रोजेक्ट|स्त्री स्वाभिमान स्कीम|स्त्री स्वाभिमान पहल|stree swabhiman yojana 12000|stree swabhiman csc registration|pradhan mantri swabhiman yojana|stree swabhiman yojana online form apply|mahila swabhiman yojana|stree swabhiman scheme|stree swabhiman yojna in hindi|stree swabhiman yojana apply online

 प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की यह पहल मुख्य रूप से “महिला सशक्तीकरण” पर ध्यान केंद्रित करेगी। रवि शंकर प्रसाद (इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी और कानून एवं न्याय मंत्री) और अल्फ़ान्स कन्ननथानम (इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी और पर्यटन राज्य मंत्री – आईसी) इस पहल की शुरूआत करेंगे।स्त्री स्वाभिमान योजना (Stree Swabhiman Yojana) की शुरुआत 27 जनवरी 2018 को महिलाओं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए की गई है | सरकार ने इस योजना  की शुरुआत महिलाओं के स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए की गई है | बहुत-सी महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ध्यान नहीं देती | इसलिए सरकार ने इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस योजना को शुरू किया |

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईटीई) ने स्त्री स्वाभिमान पहल शुरू कर दिया है। इसके बाद, सीएससी द्वारा महिलाओं के लिए अच्छे स्वास्थ्य और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए यह एक अनूठी पहल है। तदनुसार,  केंद्र सरकार  महिला वीएलई के लिए राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर इसे शुरू करेगी। इस योजना के तहत, सरकार महिलाओं को पर्यावरण के अनुकूल माहवारी पैड प्रदान करेगा|https://www.yojanagyan.in/

स्त्री स्वाभिमान योजना|stree swabhiman yojana

  • नई पहल के अनुसार, केंद्र सरकार का उद्देश्य देश के ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में महिलाओं और लड़कियों के बीच सेनेटरी पैड का वितरण करना है।
  • केंद्र सरकार का उद्देश्य राष्ट्र की महिलाओं और लड़कियों के बीच जागरूकता कार्यक्रम बनाना है ताकि वे मासिक धर्म चक्र के समय उनके स्वास्थ्य और स्वास्थ्य से संबंधित हो।
  • केंद्र सरकार का लक्ष्य है कि समाज में अन्य लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना, विशेष रूप से उद्यमी जो रखरखाव और स्थापित करने की प्रक्रिया भी बहुत सरल और आसान है
  • यह भी स्पष्ट है कि इस नई ड्राइव के तहत उत्पादन इकाई स्थापित की जाएगी जो 10 से अधिक महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में भी मदद करेगी।
  • केंद्र सरकार ने यह भी सुनिश्चित किया है कि वर्तमान समय में 15 ऐसी उत्पादन इकाइयां हैं जो कम लागत वाले निवेश के लिए देश भर में स्थापित की गई हैं। केंद्रीय सरकार द्वारा दिए गए बयानों के मुताबिक आप कम निवेश योजनाओं द्वारा स्थापित किए गए हैं।
  • सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) के समन्वय में केंद्रीय सरकार द्वारा नए अभियान और पहल को लागू किया जाएगा। संपूर्ण परियोजना को देश के भीतर ही जमीनी स्तर पर लागू किया जाएगा।
  • केंद्र सरकार ने यह भी कहा है कि सीएससी द्वारा निर्मित नए पैड अधिक पर्यावरण के अनुकूल और सस्ते होंगे|
  • यह पहल ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों और महिलाओं को सैनिटरी नैपकिन तक पहुंच प्रदान करेगी।
  • तदनुसार, केंद्रीय सरकार के इस कदम मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता के बारे में जागरूकता में सुधार होगा।
  • इसके अलावा, अर्ध स्वचालित और मैन्युअल प्रक्रिया उत्पादन इकाई की स्थापना और रखरखाव आसान और परेशानी मुक्त है
  • इसके अलावा, प्रत्येक उत्पादन इकाई 8-10 महिलाओं के लिए रोजगार पैदा करेगी

वर्तमान में, लगभग 15 कम लागत वाली सैनिटरी नैपकिन निर्माण इकाइयां पूरे देश में मौजूद हैं। तो, केंद्र सरकार चाहता है कि इस कारण के लिए अधिक लोगों को शामिल करना चाहिए।

स्त्री स्वाभिमान योजना 2020

जिन लड़कियों को महामारी होती है| उन्हें किसी भी प्रकार के सांस्कृतिक, क्रीडा में भाग लेने के लिए असहजता महसूस होते हैं| केवल सेनेटरी टावर के ना इस्तेमाल करने की कठिनाइयों के कारण| नतीजा यह निकलता है कि लड़कियां हर महीने औसतन 4 दिन स्कूल जाने से वंचित रह जाते हैं जो कि साल में 1 महीने से अधिक दिन होते हैं जिसका अर्थ यह निकलता है कि कक्षा में पिछड़ जाएंगे और कभी-कभी उसे बाहर भी निकल जाते हैं| यह प्राथमिक तथा माध्यमिक स्कूलों में छात्राओं की प्रमुख समस्या है| उसी को मध्य नजर रखते हुए सरकार द्वारा इस योजना का शुभारंभ किया गया है|

स्त्री स्वाभिमान योजना लाभ

  1. सामान्य सेवा केंद्र (सीएससी) पूरे देश में मूल स्तर पर इस पहल को कार्यान्वित करने जा रहे हैं।
  2. सीएससी ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं और लड़कियों को सस्ती, विश्वसनीय और आधुनिक माहवारी पैड (पर्यावरण के अनुकूल) प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
  3. स्त्री स्वाभिमान की रक्षा के लिए सीएससी की यह एक अनोखी पहल है
  4. तदनुसार, इन पैड का उपयोग करने के लिए सुरक्षित और कीमत में सस्ते हैं।
  5. इसके अलावा, ये पैड महिलाओं की सुरक्षा और स्वच्छता सुनिश्चित करेंगे।

स्त्री स्वाभिमान योजना ऑनलाइन आवेदन

.वेब ब्राउज़र खोलें और दी गई लिंक पर क्लिक करेंरजिस्ट्रेशन ।

2. एक वेब पेज खुलेगा। पुलिस सत्यापन फार्म प्रारूप पर क्लिक करें। डाउनलोड कर फार्म भरें और इसे नजदीकी पुलिस स्टेशन से सत्यापित होता है।

3. इसके बाद की पंजीकरण की प्रक्रिया के लिए क्लिक कर आगे बढ़ें

4. क्लिक पर क्लिक करने के बाद,एक नया पृष्ठ खुलेगा। जहां आपको अपना आधार कार्ड नंबर भरना है।


5.इसके बाद रजिस्ट्रेशन के लिए आधार संख्या का प्रमाणीकरण eKYC के माध्यम होता है। दिये गये विकल्पों में से eKYC के लिए किसी का भी चुनाव करें। KYC का चयन करने के बाद आगे बढ़ने के लिए क्लिक करें।

6. प्रोसीड बटन पर क्लिक करने के बाद, फार्म में पूछे गये अनिवार्य विवरण भरें। इसके अलावा, (जियोटैगिंग के साथ) केंद्र की आवश्यक तस्वीर पुलिस सत्यापन दस्तावेज़ के साथ अपलोड करें और सबमिट करें ।

सहायता के लिए संपर्क हेल्पलाइन नंबर : 180030003468

प्यारे दोस्तों [रजिस्ट्रेशन]सीएससी स्त्री महिला स्वास्थ्य  स्वच्छता ऑनलाइन आवेदन की जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इस से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं|तो हमारे कमेंट बॉक्स पर जाकर अपना प्रश्न लिख सकते हैं आप हमारा Facebook पेज लाइक और शेयर कर सकते हैं|

35 thoughts on “[फॉर्म] स्त्री स्वाभिमान योजना|ऑनलाइन अप्लाई |stree swabhiman yojana apply online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *