राजस्थान छात्रगृह किराया योजना|छात्रगृह किराया योजना राजस्थान|छात्रगृह किराया योजना|Rajasthan chatrgrah kiraya yojana download application for in hindi

राजस्थान छात्रगृह किराया योजनान्तर्गत जनजाति के ऐसे छात्र-छात्राऐं जो राजकीय महाविद्यालय विश्वविद्यालय की स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं में पढते हैं, उनमें से जिन छात्र-छात्राओं को छात्रावास में स्थानाभाव के कारण आवासीय सुविधा नहीं मिल पाती है और वह किराये के मकान में रहकर नियमित अध्ययन करते हैं, उनको इस योजनान्तर्गत आवासीय सुविधा उपलब्ध करार्इ जाती है। पैटर्न अनुसार मकान किराया की राशि निम्नानुसार पुनर्भरण की जाती है|

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना के तहत एक छात्र या दो छात्रों के एक ग्रुप को भी यह सुविधा दी जाती है। योजना के अंतर्गत, मकान किराये का पुनर्भरण परियोजना अधिकारी, जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा मकान मालिक को त्रैमासिक रूप से किया जाता है। जिन छात्र-छात्राओं के माता-पिता आयकरदाता है, उन्हें यह सुविधा उपलब्ध नहीं होगी। छात्र- छात्राएं अनुसूचित क्षेत्र की मूल निवासी होने तथा राज्य में ही अध्ययनरत रहने पर ही योजना का लाभ देय होगा।

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना शिक्षा विभाग ने केवल राजकीय महाविद्यालय, विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं हेतु “छात्रगृह किराया योजना  के तहत आवेदन आमंत्रित किया है। जिन छात्र-छात्राओं को छात्रावास में स्थानाभाव के कारण आवासीय सुविधा नहीं मिल पाती है और वह किराये के मकान में रहकर नियमित अध्ययन करते हैं, उनको इस योजनान्तर्गत आवासीय सुविधा उपलब्ध करार्इ जाती है।

इसमें एक छात्र या दो छात्रों के एक ग्रुप को भी यह सुविधा दी जाती है। मकान किराये का पुनर्भरण परियोजना अधिकारी, जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा मकान मालिक को त्रैमासिक रूप से किया जाता है। पुनर्भरण किराये की रसीद जिस पर शैक्षणिक संस्था का प्रधान यह प्रमाणित करता है कि उक्त छात्र-छात्रा मेरे राजकीय संस्थान में नियमित रूप से अध्ययन कर रहे हैं और ये उक्त मकान में किराये पर रहते है। इसके बाद ही उनके मकान मालिक को किराये का भुगतान किया जाता है। जिन छात्र-छात्राओं के माता-पिता आयकरदाता है, उन्हें यह सुविधा उपलब्ध नहीं होगी। छात्र- छात्राएं अनुसूचित क्षेत्र की मूल निवासी होने तथा राज्य में ही अध्ययनरत रहने पर ही योजना का लाभ देय होगा|

Benefits of Rajasthan Chatra Grah Kiraya Yojana

राज्य सरकार द्वारा चयनित लाभार्थी विद्यार्थियों को राजस्थान छात्र गृह किराया योजना 2022 के अंतर्गत निम्नलिखित लाभ दिए जाएंगे।

  • जो विद्यार्थी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं उन्हें राज्य सरकार की तरफ से मकान के किराए के पैसे दिए जाएंगे।
  • अगर विद्यार्थी के पास शिक्षण संस्थान तक आने-जाने के लिए कोई वाहन की सुविधा नहीं है तो इस राजस्थान छात्र गृह किराया योजना 2022 के तहत लाभ लिया जा सकता है।
  • सरकार द्वारा छात्र-छात्राओं के कमरे का किराया सीधे मकान मालिक के बैंक अकाउंट में भेज दिया जाएगा।
  • राज्य के गरीब तथा निम्न आय वर्ग के परिवारों को अब अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए दूर भेजने हेतु कमरे के किराए की चिंता नहीं करनी होगी।
  • अब राज्य के होनहार विद्यार्थी बिना पैसों की तंगी के अपने घर से दूर रहकर भी अपनी पढ़ाई पूरी कर सकते हैं।

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना के लिए पात्रता

  • आवेदनकर्ता राजस्थान का निवासी होना चाहिए|
  • जिन विद्यार्थियों के माता पिता अभिभावक आए करता है उन्हें इस सुविधा का फायदा नहीं मिलेगा|
  • राजकीय महाविद्यालय विश्वविद्यालय के छात्र छात्राओं को छात्रावासों में अभाव के कारण किराए के मकान में रह कर नियमित अध्ययन कर रहे विद्यार्थी को सुविधा मिलेगी|

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना के लिए जरूरी कागजात

  • आवेदनकर्ता के पास दसवीं बोर्ड 12 वीं की मार्कशीट होना अनिवार्य है|
  • आवेदन करने वाला राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए|
  • आवेदनकर्ता के पास आय प्रमाण पत्र भी होना चाहिए|
  • आवेदन करने के लिए बैंक खाता प्रतीक होती अनिवार्य है|
  • आवेदन कर्ता के पास आधार कार्ड का होना अनिवार्य है|

राजस्थान छात्रगृह किराया योजना ऑनलाइन आवेदन

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें

राजस्थान छात्रा कार्य योजना में एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें

दोस्तों आपको राजस्थान छात्रगृह किराया योजना ऑनलाइन आवेदन किस प्रकार कि  लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं  इससे संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरुर देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

5 thoughts on “छात्रगृह किराया योजना राजस्थान ऑनलाइन आवेदन|”

Leave a Reply

Your email address will not be published.