आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन”आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन क्या है” आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन योजना”Ayushman Bharat Digital Mission 2022″Ayushman Bharat Digital Mission

आज हम आज हम अपने इस आर्टिकल में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की जानकारी देने जा रहे हैं| प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022 क्या है| आप किस प्रकार Ayushman Bharat Digital Mission का लाभ उठा सकते हैं|Ayushman Bharat Digital Mission : पीएम मोदी ने आज राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM)- आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की है. इस मिशन के जरिए देश में हेल्थकेयर सेक्टर तक सभी की डिजिटल पहुंच को बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है|इस मिशन के जरिए देश में हेल्थकेयर सेक्टर तक सभी की डिजिटल पहुंच को बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है|

सरकार का लक्ष्य है कि इस योजना के तहत हेल्थ सेक्टर में लोगों के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया जाए, जहां लोगों को अपना हेल्थ रिकॉर्ड और डेटाबेस रखने के साथ होलिस्टिक हेल्थकेयर तक उनकी पहुंच बने. बता दें कि प्रधानमंत्री ने पिछले साल 15 अगस्त को लाल किले से राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान के पायलट प्रोजेक्ट की घोषणा की थी. फिलहाल इस योजना को छह केंद्रशासित प्रदेशों में प्रारंभिक चरण में लागू किया जा रहा है|

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन 2022

पीएम मोदी ने इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए देश को संबोधित किया और कहा कि ‘बीते सात वर्षों में, देश की स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का जो अभियान चल रहा है, वो आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है. आज एक ऐसे मिशन की शुरुआत हो रही है, जिसमें भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने की ताकत है.’

Ayushman Bharat Digital Mission 2022

आर्टिकल किसके बारे में है पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2022
किस ने लांच की स्कीम केंद्र सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
आर्टिकल का उद्देश्य इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी पेशेंट्स के डाटा को डिजिटल स्टोर करना है।
ऑफिशियल वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2022
स्कीम उपलब्ध है या नहीं उपलब्ध

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य

  • आधुनिक डिजिटल स्वास्थ्य प्रणाली स्थापित करना।
  • कोर डिजिट अस्वास्थ्य डाटा का प्रबंधन करना।
  • स्वास्थ्य रिकॉर्ड के आदान-प्रदान के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा विकसित करना।
  • परिभाषित मानकों के अनुसार आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के साथ एकीकरण सुनिश्चित करके मौजूदा स्वास्थ्य सूचना प्रणाली को मजबूत बनाना।
  • स्वास्थ्य देखभाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करना।
  • सभी स्तरों पर शासन की दक्षता एवं प्रभावशीलता बढ़ाना।
  • स्वास्थ्य विभाग का बेहतर प्रबंधन करना जिससे कि स्वास्थ्य डेटा का विश्लेषण और चिकित्सा अनुसंधान किया जा सके।
  • नैदानिक निर्णय समर्थन प्रणालियों का उपयोग को बढ़ावा देना।
  • स्वास्थ्य सेवाओं के प्रावधान में नेशनल पोटेबिलिटी सुनिश्चित करना।
  • यह सुनिश्चित करना कि निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य देखभाल संस्था एवं पेशेवर आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के निर्माण में सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ सक्रिय रूप से भाग ले।
  • सभी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य धारकों द्वारा मानकों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड की एक प्रणाली बनाना जिससे कि स्वास्थ्य पेशावरो एवं सेवा प्रदाताओं को मरीज से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके।
  • इस योजना के तहत नागरिकों को आधार की तर्ज पर एक यूनीक हेल्थ आईडी मिलेगी. PM ने अपने संबोधन में बताया कि आयुष्मान भारत- डिजिटल मिशन, अब पूरे देश के अस्पतालों के डिजिटल हेल्थ सॉल्यूशंस को एक दूसरे से कनेक्ट करेगा. इसके तहत देशवासियों को अब एक डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी. हर नागरिक का हेल्थ रिकॉर्ड डिजिटली सुरक्षित रहेगा|
  • पीएम ने कहा कि अब भारत में एक ऐसे हेल्थ मॉडल पर काम जारी है, जो होलिस्टिक हो, समावेशी हो. एक ऐसा मॉडल, जिसमें बीमारियों से बचाव पर बल हो,- यानि प्रिवेंटिव हेल्थकेयर, बीमारी की स्थिति में इलाज सुलभ हो, सस्ता हो और सबकी पहुंच में हो
  • NDH अन्य डिजिटल पहलों के रूप में तैयार बुनियादी ढांचे के आधार पर स्वास्थ्य से जुड़ी व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा, गोपनीयता और निजता को सुनिश्चित करते हुए एक विस्तृत श्रृंखला के प्रावधान के माध्यम से डेटा, सूचना और जानकारी का एक सहज ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार करेगा|
  • इस अभियान के अंतर्गत नागरिकों की सहमति से हेल्थ रिकॉर्ड तक पहुंच और आदान-प्रदान की आसानी होगी. यानी कि कोई भी नागरिक अपनी सहमति से प्लेटफॉर्म पर अपना हेल्थ रिकॉर्ड बना सकता है. इसपर उसे अपने रिकॉर्ड या डेटाबेस को एक्सेस करने या आसानी से शेयर करने का विकल्प मिलेगा
  • हर नागरिक के लिए बनी एक हेल्थ आईडी उनके हेल्थ अकाउंट के तौर पर भी काम आएगी, जिससे अपने पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड को मोबाइल ऐप्लिकेशन की मदद से जोड़ा और देखा जा सकता है|
  • इसके तहत, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (HPR) और हेल्थकेयर फैसिलिटीज रजिस्ट्रियां (HFR), मॉडर्न और ट्रेडिशनल मेडिसिन, दोनों ही मामलों में सभी हेल्थकेयर सर्विस संस्थाओं के लिए एक डेटाबेस के रूप में कार्य करेंगी|
  • यह डॉक्टरों के साथ ही अस्पतालों और हेल्थकेयर सर्विस देने वाली संस्थाओं के लिए व्यवसाय में भी आसानी को सुनिश्चित करेगा|

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • परिवार के सभी लोगो का
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पते का सबूत

आयुष्मान भारत योजना

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2022 के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको क्रिएट हेल्थ आईडी के लिंक पर क्लिक करना होगा।
आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन
आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन
  • अब यदि आप आधार कार्ड के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया आधार कार्ड से लिंक पर क्लिक करना होगा और यदि आप मोबाइल नंबर के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया मोबाइल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • यदि आपने आधार कार्ड सिलेक्ट किया है तो आपको अपना आधार नंबर भरना होगा और यदि आपने अपने मोबाइल नंबर सेलेक्ट किया है तो आपको अपना मोबाइल नंबर भरना होगा।
  • अब आपके फोन पर ओटीपी आएगा। आपको यह ओटीपी, ओटीपी बॉक्स में भरना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने फॉर्म खुलकर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी आपको ध्यान पूर्वक भरनी होगी।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी हेल्थ आईडी जनरेट हो जाएगा।

हेल्थ आईडी कार्ड में हेल्थ आईडी नंबर से लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको क्रिएट हेल्थ आईडी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
Health ID Card
  • अब आपके सामने लॉगइन पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना हेल्थ आईडी नंबर दर्ज करना होगा।
  • अब आपके पास एक ओटीपी आएगा इसे आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • इस प्रकार आपकी लॉगिन प्रक्रिया हो जाएगी।

डीजी डॉक्टर आईडी क्रिएट करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको डी जी डॉक्टर के अंतर्गत दिए रजिस्टर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
डीजी डॉक्टर आईडी क्रिएट
  • अब आपको एनरोल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको रजिस्टर वाया आधार के लिंक पर क्लिक करना होगा।
PM Health Card
  • अब आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा और डिक्लेरेशन पर टिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा।
  • आपको इस ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया फॉर्म खुल कर आएगा।
  • आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • उसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आपकी डिजी डॉक्टर आईडी जेनरेट हो जाएगी।

मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको नीचे स्क्रोल करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको गेट इट ऑन गूगल प्ले के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
मोबाइल ऐप डाउनलोड
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने मोबाइल आप खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको इंस्टॉल के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • मोबाइल ऐप आपकी डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.