उत्तर प्रदेश गंगा हरीतिमा योजना

उत्तर प्रदेश गंगा हरीतिमा योजना| hariteema yojana

uttara khand

यूपी गंगा हरीतिमा योजना|उत्तर प्रदेश गंगा हरीतिमा योजना|यूपी हरीतिमा गंगा योजना|haritima yojana|uttar pradesh ganga hariteema yojana in hindi|

उत्तर प्रदेश के प्यारे वासियों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने गंगा हरीतिमा योजना योजना की शुरुआत की है|उत्‍तर प्रदेश में गंगा नदी के तट पर 27 जिलों में आज से गंगा हरितिमा योजना की शुरुआत की जा रही है।इसका उद्देश्य नदी के किनारे-किनारे हरितिमा का अच्छादम बढ़ाना और भूमिक्षरण रोकना है। नदी के किनारे से एक किलोमीटर के दायरे में एक हजार से अधिक गांव में वृक्षारोपण किया जाएगा।

इस वर्ष ओज़ोन दिवस 16 सितम्बर तक चलने वाले इस अभियान में एक व्यक्ति एक वृक्ष के नारे के तहत आम व्यक्तियों को ही वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इस अभियान पर निगाह रखने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में एक उच्चसमिति का भी गठन किया गया है।

यूपी गंगा हरीतिमा योजना

इसके अंतर्गत महोत्सव के दिन गंगा नदी के दोनों ओर तटीय क्षेत्रों में जन-जागरूकता, जन-सहभागिता तथा सरकारी विभागों के माध्यम से सघन पौधरोपण, स्वच्छता, मृदा एवं जल संरक्षण तथा प्रदूषण की रोकथाम के कार्यक्रम होंगे। महोत्सव की सफलता के लिए वन एवं वन्य जीव विभाग तथा 12 अन्य राजकीय विभागों, पंचायती राज विभाग, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, संस्कृति, बेसिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग, युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल विभाग, महिला कल्याण विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, समाज कल्याण विभाग, कृषि विभाग, उद्यान विभाग, सिंचाई विभाग तथा आयुष विभाग के दायित्व निर्धारित किए गए हैं।

हरीतिमा योजना

इसके सफल संचालन, मार्ग दर्शन, क्रियान्वयन, अनुश्रवण एवं मूल्याकन के लिए विभिन्न समितियां गठित की गई हैं। अभियान का समग्र रूप से मार्गदर्शन करने तथा अभियान के कायरें की समीक्षा व अनुश्रवण करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शीर्ष स्तर पर समिति गठित की गई है। समिति में संबंधित विभागों के मंत्री एवं राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार सदस्य बनाए गए हैं। इसके अलावा मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित उत्तर प्रदेश गंगा समिति के माध्यम से महोत्सव का राज्य स्तरीय नियोजन एवं अनुश्रवण किया जाएगा|

गंगा नदी के किनारे एक हजार किलोमीटर से ज्यादा क्षेत्र में वृक्षारोपण किया जाएगा। इसका उद्देश्य नदी के किनारे-किनारे हरितिमा का अच्छादम बढ़ाना और भूमिक्षरण रोकना है। नदी के किनारे से एक किलोमीटर के दायरे में एक हजार से अधिक गांव में वृक्षारोपण किया जाएगा। 

प्यारे दोस्तों उत्तर प्रदेश गंगा हरीतिमा योजना से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए हम उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं इससे आपको उत्तर प्रदेश की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

7 thoughts on “उत्तर प्रदेश गंगा हरीतिमा योजना| hariteema yojana

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *