प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना|ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

pradhan mantri yojana

प्रधानमंत्री पेट्रोलियम पंचायत योजना केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान तथा गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी कल गांधीनगर जिले के मोटा ईशनपुर से प्रधानमंत्री एल.पी.जी. पंचायत योजना की राष्ट्रव्यापी शुरूआत करेंगे।  इसके बाद अगले एक से डेढ साल में देश भर में ऐसे करीब एक लाख पंचायत आयोजित होंगे।  

पिछले साल एक मई से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों की महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिए जाने की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की 100 ग्रामीण लाभार्थी तथा तेल कंपनियों और मंत्रालय के प्रतिनिधि अधिकारी और स्थानीय एनजीओ और अन्य संस्थायें इसमें शिरकत करेंगी।

प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान तथा गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी कल गांधीनगर जिले के मोटा ईशनपुर से प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना की राष्ट्रव्यापी शुरूआत करेंगे।  इसके बाद अगले एक से डेढ साल में देश भर में ऐसे करीब एक लाख पंचायत आयोजित होंगे।

 पिछले साल एक मई से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों की महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिए जाने की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की 100 ग्रामीण लाभार्थी तथा तेल कंपनियों और मंत्रालय के प्रतिनिधि अधिकारी और स्थानीय एनजीओ और अन्य संस्थायें इसमें शिरकत करेंगी। 100 लाभार्थी आसपास के गांवों के होंगे।

प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना का उद्देश्य

ये संदेश देश के आखिरी छोर तक पहुंचाना भी है. पीएम एलपीजी योजना के तहत इरादा है महिलाओं के बीच जाना और पंचायतों का आयोजन करना. इन पंचायतों में हर क्षेत्र में काम कर रही महिलाओं की मदद भी ली जाएगी. इसमें आंगनबाडी, समाजसेवा, राजनीति के क्षेत्र में काम करने वाली महिलाएं भी शामिल होंगी100 लाभार्थी आसपास के गांवों के होंगे। इसमें योजना के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा, जागरूकता, शंकाओं और भ्रांतियों का निवारण, अनुभव साझा तथा सुझाव लिये जायेंगे और जरूरी कदम उठाये जायेंगे।  गुजरात में तेल कंपनियों के राज्य समन्वयक तथा इंडियन ऑयल के कार्यकारी निदेशक संजीव जैन ने अन्य तेल कंपनियों के अधिकारियों के साथ आयोजित संयुक्त संवाददाता संम्मेलन में यह जानकारी दी।

प्रधानमंत्री पेट्रोलियम पंचायत योजना 2020

प्रधानमंत्री पेट्रोलियम पंचायत योजना अब तक उज्ज्वला योजना के तहत 3 करोड लोगों को जोडा गया है जिसमें 11 लाख 39 हजार गुजरात के हैं। 2019 तक इसके तहत पांच करोड लाभार्थी बनाने का लक्ष्य है। देश में प्रति कनेक्शन साढे सात सिलेंडर की औसत सालाना खपत की तुलना में इस योजना के लाभार्थियों के मामले में अब तक यह आंकडा मात्र औसतन ढाई से सवा तीन ही है। 

जाहिर है इन पंचायतों के जरिए देश के रिमोट हिस्सों में भी जागरुकता बढ़ाने में मदद मिलेगी कि एलपीजी उनके पारंपरिक उर्जा से सस्ता भी है और स्वच्छ भी. पंचायतों में पूरा ध्यान महिलाओं को ये बताने में रहेगा कि एलपीजी का इस्तेमाल न सिर्फ सुरक्षा और स्वास्थ्य के लिए बेहतर है बल्कि आस पास के पर्यावरण को भी स्वच्छ रखने में मददगार होता है. साथ ही जलावन की लकड़ी ढूंढने से लेकर दूसरी मुश्किलों को भुला कर महिला सशक्तिकरण में भी खासा योगदान रहेगा. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान का मानना है कि प्रधानमंत्री पेट्रोलियम पंचायत योजना समाज में बदलाव का एक जरिया बनेगा|

प्यारे दोस्तों प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना की जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इस योजना से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तुम्हारे कमेंट बॉक्स पर लिखिए उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं जिससे आप धानमंत्री की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे

14 thoughts on “प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत योजना|ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *