[कृषि ऋण] एकमुश्त समाधान योजना 2020 हरियाणा|अप्लाई ऑनलाइन

haryana

हरियाणा एकमुश्त समाधान योजना 2020|हरियाणा एकमुश्त समाधान योजना|हरियाणा कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना|मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा|Haryana Mukhyamantri Krishi Rin Ek Must Samadhan Yojana|Haryana Ek Must Samadhan Yojana|

 प्यारे दोस्तों आज हम अपने हरियाणा मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना 2020 इस आर्टिकल में हरियाणा कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना की जानकारी देने जा रहे हैं| हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार योजना का लाभ ले सकते हैं| हरियाणा के मुख्यमंत्री Haryana Krishi Rin Ek Must Samadhan Yojana योजना की शुरुआत की है| हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों के लिए कृषि ऋण समाधान योजना के तहत किसानों को तोहफा दिया है|इस योजना के तहत् किसानों पर लगने वाले ब्याज और जुर्माने की राशि को सरकार द्वारा भरा जाएगा |

कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना 2020 (Interest and Penalty on crop Loans waiver scheme) का ऐलान कर दिया है। इस सरकारी योजना के तहत ऋण पर लगने वाले ब्याज और जुर्माने (Haryana Govt Crop Loan Interest Penalty Waiver Scheme) की करीब 4750 करोड़ रूपये की राशि राज्य सरकार द्वारा माफ कर दी जाएगी।

यह योजना किसानों के लिए शुरू की गई है जिन किसानों ने प्राथमिक कृषि सहकारी समिति, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक,  हरियाणा विकास बैंक जैसी सहकारी बैंकों से कर्ज लिया है । उन किसानों पर लगने वाला ब्याज और जुर्माना सरकार द्वारा माफ किया जा रहा है परंतु शर्त यह है कि किसानों को 3 महीने के अंदर मूलधन वापस करना होगा । तभी उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त होगा ।

हरियाणा कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना, एक ऐसी योजना है जिससे कि जितने भी लोग अभी तक अपने ऋण एवं ब्याज की राशि को चुका नहीं पा रहे हैं यह उनके लिए सुनहरी मौका है। इस योजना के अंतर्गत उनका ब्याज पूर्ण रूप से माफ हो जाएगा। जिससे उन्हें केवल मूल राशि का भुगतान करना होगा|

यह एक दूसरी तरह की कर्ज माफी योजना है। आमतौर पर किसानों का कर्ज माफ किया जाता है। परंतु इस योजना के तहत ब्याज एवं लगने वाला जुर्माना सरकार की तरफ से माफ किया जाएगा।इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को मूलधन लौटाना अनिवार्य है। अर्थात कर्ज की जो मुख्य राशि है वह किसानों को सरकारी बैंकों को खुद ही लौटाना होगा। इस ऋण माफी योजना के शुरू होने से 3 महीने के बीच में किसानों को मूलधन वापस करना होगा। इस प्रकार अंतिम तिथि 30 नवंबर 2019 तय की गई है।

हरियाणा एकमुश्त समाधान योजना 2020 का लाभ

  • सीएम खट्टर ने कहा कि किसानों को पांच लाख रुपये से कम के ऋण के लिए दो प्रतिशत, पांच लाख से 10 लाख रुपये के बीच ऋण के लिए पांच प्रतिशत और बड़े ऋण के लिए 10 प्रतिशत का भुगतान करना होगा।
  • तीसरी श्रेणी उन किसानों की है जिन्होने लैंड मॉरगेज बैंकों से ऋण लिए हुआ है भूमि सुधार एवं विकास बैंक (लैंड मॉरगेज बैंक) से लगभग 1.10 लाख किसानों ने फसल पर ऋण लिया हुआ है, जिनमें से 70 हजार किसानों के खाते एनपीए हो चुके हैं।
  • इन किसानों की मूल कर्ज राशि 750 करोड़ रुपये की है और ब्याज व जुर्माने की राशि अगर मिला दे तो कुल 1400 करोड़ रूपये देय बनती है।
  • इन बैंकों के किसानों का भी पूरा पैनल ब्याज माफ कर दिया जाएगा।
  • केवल सामान्य ब्याज का 50% ही किसानों को देना होगा, शेष 50% राज्य सरकार वहन करेगी। इससे लगभग किसानों को 450 करोड़ रुपये का लाभ मिलेगा।

Haryana Mukhyamantri Krishi Rin Ek Must Samadhan Yojana जरुरी दस्तावेज 

  •  आधार कार्ड
  • खेत संबंधी सत्यापित कागजात
  • बैंक लोन संबंधी दस्तावेज
  •  पटवारी के द्वारा जमीन का पर्चा
  •  बैंक लोन की खाते की कॉपी

 एकमुश्त समाधान योजना 2020 हरियाणा ऑनलाइन अप्लाई 

  • अभी सरकार ने इस योजना के लिए पंजीकरण शुरू नहीं किये है |
  • इस योजना के अंतर्गत किसान कैसे पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं|
  • इससे संबंधी जानकारी मिलने पर इस पेज पर अपडेट कर दी जाएगी |

उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना

प्यारे दोस्तों  हरियाणा कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना की जानकारी कैसे लगी| अगर आप इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए| हम उसका उत्तर  अवश्य देंगे| आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं| जिससे आप हरियाणा की योजनाओं के साथ अपडेट रहेंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *